न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नाले के पानी से जयप्रकाश नगर की सड़क बनी तालाब, आखिर कब बनेगी रांची स्मार्ट राजधानी (देखें वीडियो)

76

Md. Asghar Khan

Ranchi, 14 December : रांची नगर निगम का चुनाव निकट है, लेकिन जनप्रतिनिधि अपनी दुनिया में मग्न. ऐसा इसलिए क्योंकि उन्हें जनता-जनार्दन की समास्याओं की चिंता नहीं, बल्कि अपने वोट की है. इसे चरितार्थ करती तस्वीर रांची के जयप्रकाश नगर की है जहां की सड़कें बिन बरसात तलाब बनी हुई हैं. पिछले 20 दिनों से नाले से बहने वाला गंदा पानी सड़क को तालाबनुमा बना चुका है. वार्ड नंबर छह में आने वाली यह सड़क सिर्फ स्थानीय लोगों के लिए नहीं, बल्कि इस रास्ते होते हुए खेलगांव जाने वाले लोगों के लिए भी परेशानी का सबब बनी हुई है. स्कूली बच्चे-बच्चियों को सड़क का किनारा पकड़ कर पार करना पड़ता है, तो किसी को साईकिल कंधे पर रख जाना होता है.

IFrame

hosp1

इसे भी पढ़ें : रधुवर दास : सदन को मजाक बना कर रखा है विपक्ष ने, मजाक तो आपने बना कर रखा है पूरे राज्य का : हेमंत सोरेन

श्रद्धालुओं का पूजा-पाठ करना हुआ दूभर

जलजमाव की जगह से सौ मीटर की दूरी पर स्थित मंदिर में श्रद्धुलाओं की भीड़ भी अब नहीं उमड़ रही है. पुजारी नवल किशोर पांडेय ने बताया सड़क पर जमा हुए नाली के पानी के कारण मंदिर में श्रद्धुलाओं की भीड़ नहीं लग रही है. शिकायत करने पर सिर्फ आश्वासन मिलता है. वहीं मंदिर के पास ही रहने वाली शकुनतला देवी कहती हैं कि लोगों को आने-जाने में काफी परेशानी होती है. हर शनिवार को आयोजित होने वाले कीर्तन-भजन में भी लोग नहीं पहुंच रहे हैं. दुकान-बजार जाना मुश्किल हो गया है.

IFrame

हर रोज जूते- मोजे भींग जाते हैं

छात्रा क्रिस्टीना कहती हैं कि इसी रास्ते घर और स्कूल जाना होता है. यहां पर जल जमाव इतना अधिक हुआ है कि किनारे से जाने पर भी हर रोज जूते- मोजे भींग जाते हैं. वहीं छात्र गौरव और उत्तम का कहना है कि स्कूल जाने के क्रम में गड्ढे के गंदे पानी से ड्रेस खराब हो जाता है. कोई भी ध्यान नहीं दे रह है.

IFrame

इसे भी पढ़ें : सीएम की बीजेपी विधायकों ने नहीं सुनी, स्पीकर के चार बार दोहराने के बाद भी लटका स्कूली फीस में वृद्धि का मामला

सड़क भी जर्जर, बनाने के नाम पर आश्वासन

जयप्रकाश नगर जाने वाली मेन सड़क जर्जर स्थिति में है. जगह-जगह गढ्ढे हो गए हैं. सड़क पर कमोबेश हर जगह गिट्टी निकली हुई है. बुजुर्ग उपेंद्र सिंह ने कहा कि लोगों को आवाजाही में काफी दिकक्त हो रही है. व्यवस्था बदतर नजर आती है. विधायक और पार्षद इधर वोट के लिए ही आते हैं. सफाईकर्मी भी इस इलाके में नहीं आते हैं. सड़क की जर्जर स्थिति के बारे में स्थानीय मनोज कुमार बताते हैं कि यह सड़क काफी समय से इसी स्थिति में है. बनाने के नाम पर बार-बार आश्वासन दिया जाता है.

IFrame

क्या कहते हैं पार्षद…

इस इलाके के वार्ड पार्षद अशोक खलको का कहना है कि बिना नाली बनाए इसका कोई निदान नहीं है. ये पानी पास के अपार्टमेंट का है. इसे मैंने बोर्ड की बैठक में उठाया है, परंतु नाली के लिए कोई फंड नहीं दिया जाता है. अब सभी वार्ड में नगर निगम सीवरेज ड्रेनज बना रहा है. जयप्रकाश नगर सड़क के निर्माण के लिए बोर्ड की बैठक से पास करवाकर नगर विकास विभाग को भेज दिया गया. वहां से अभी तक स्वीकृति नहीं मिली है.

IFrame

इसे भी पढ़ें : सरकार रंगमंच बनाने में व्यस्त, सबसे ज्यादा खर्च कर रहा है पीआरडी विभाग, सरकार कर रही पैसों का बंदरबांट : हेमंत सोरेन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: