न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नालंदाः दुष्कर्म के बाद हत्या करने वाले आरोपी को मिली फांसी की सजा

42

News Wing
Nalanda, 30 November: बिहार के नालंदा जिले में जिला न्यायालय के पास्को स्पेशल न्यायधीश प्रथम एडीजे शशिभूषण प्रसाद सिंह ने दुष्कर्म व हत्या के आरोपी को फांसी की सजा सुनाई. पहली बार कोर्ट ने इस तरह की सजा सुनाई है. आरोपित पटना जिला के गौरीचक थाना के बरावां टोला बेलदरिया गांव का निवासी है.

इसे भी पढ़ें- चतराः तीन साल की मासूम के साथ दुष्कर्म, पुलिस जवान पर रेप का आरोप

क्या-क्या सजा मिली

हत्या के लिए फांसी की सजा तथा दुष्कर्म के लिए आजीवन कारावास और अन्य भादसं की धारा 201 के तहत सात वर्ष पास्कों एक्ट की धारा 4,6,8 के तहत 10-10 व पांच वर्ष कारावास की सजा सुनाई गयी है. आरोपी को सभी धाराओं के तहत दो-दो हजार रुपये जुर्माना भी अदा करना होगा. यह मामला वर्ष 2014 का है. हिलसा थाना के बभनबरूई गांव में तीन वर्षीया बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद आरोपी ने उसकी हत्या कर दी थी. ऐसा उसने इसलिए किया था ताकि साक्ष्य को मिटाया जा सके. जिसके बाद बच्ची के पिता के द्वारा हिलसा थाने में कांड संख्या 433-14 के तहत 22 सितम्बर 2014 को आरोप दर्ज किया गया था.

इसे भी पढ़ें-दुष्कर्म कर एमएमएस बनाया, मिली नौ साल की सजा

क्या है पूरा मामला

घटना के बारे में बता दें कि आरोपित हिलसा थाना क्षेत्र स्थित बभववरूई टोला में अपने ससुराल घटना के दिन बीते वर्ष 21 सितम्बर 14 की शाम 3.30 बजे पहुंचा. ससुराल के घर में ताला बंद होने की स्थिति में पीड़िता की मां ने अपने घर में बैठाकर आरोपित की सेवा सत्कार किया. इस दौरान तीन वर्षीया बच्ची भी वहीं थी. आरोपित उससे बात कर रहा था. उसके बाद बिस्कुट दिलाने के बहाने उसे गोद में लेकर बाहर चला गया और शाम तक घर नहीं पहुंचने पर परिवार वालों ने खोजबीन शुरू की. रास्ते में कुछ लोगों ने बताया कि आरोपित काली टोपी पहनकर गांव से उत्तर टोला में बच्ची को लेकर गया है. गांव से एक किलोमीटर दूर जाने पर अलंग किनारे पटवन के गड्ढे में बच्ची का शव पड़ा था. उसके गर्दन पर जख्म और गाल पर दांत काटने के निशान. आरोपी की काली टोपी भी उसी गड्ढे में थी.

इसे भी पढ़ें- बिहार: बांका में विवाहिता के साथ सामूहिक दुष्कर्म

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: