न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नगड़ी में अपराधियों का तांडव, दिनदहाड़े चलायी गोलियां, इंजीनियर व मुंशी की मौत, ड्राइवर घायल (देखें वीडियो)

48

Ranchi : नगड़ी थाना क्षेत्र में शुक्रवार सुबह अपराधियों ने एक इंजीनियर और मुंशी की गोली मारकर हत्या कर दी. वहीं एक अन्य व्यक्ति घायल हो गया. मौके पर ही दोनों लोगों की मौत हो गयी. घायल को बेहतर इलाज के लिए रिम्स में भर्त्ती कराया गया. मृतकों की पहचान कर्नाटक निवासी इंजीनियर विशाल रेड्डी और मध्य प्रदेश के सतना निवासी मुंशी प्रहलाद सिंह राठौड़ के रूप में की गयी है. इस घटना में पोकलेन का ड्राइवर देवकी सिंह गंभीर रूप से जख्मी हो गया, जिसे रिम्स में भर्ती कराय गया है. उसके पैर में गोली लगी है. सभी एसके कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारी हैं और यहां काम कर रहे थे.

इसे भी पढ़ें – सिमडेगा : मछली मारने गये 50 वर्षीय व्यक्ति की धारदार हथियार से मारकर हत्या

क्या है मामला

प्रत्यशदर्शियों के अनुसार, शुक्रवार को सुबह छह वर्दीधारी लोग तीन बाइक पर सवार होकर आये और अंधाधुंध फायरिंग करने लगे. फायरिंग में इंजीनियर और मुंशी को गोली लगी और उनकी घटनास्थल पर हा मौत हो गयी. वहीं फायरिंग में ड्राइवर भी घायल हो गया. हमला कर सभी अपराधी लोधमा कर्रा रोड की ओर भाग निकले. ग्रामीणों के अनुसार, अपराधियों ने करीब 15 राउंड गोली चलायी. मौके पर जांच के लिए पहुंची पुलिस मान रही है कि लेवी की मांग को लेकर यह हत्या की गयी है. जांच चल रही है. पर आशंका जाहिर की जा रही है कि पीएलएफआई उग्रवादियों ने उक्त घटना को अंजाम दिया होगा.

इसे भी पढ़ें – एसपी ए विजयालक्ष्मी के निर्देश पर पुलिस ने की कार्रवाई, 500 टन अवैध कोयला जब्त

nagri

घटनास्थल पर पहुंचे ग्रामीण एसपी, जांच में जुटी पुलिस

मौके पर ग्रामीण एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग, नगड़ी थाना प्रभारी अन्य थाना प्रभारी व पुलिस पदाधिकारियों सहित काफी संख्या में पुलिस फोर्स पहुंचकर घटना की जानकारी ली. घटना के पीछे नक्सली संगठन पीएलएफआई का हाथ माना जा रहा है, जिसने लेवी वसूली के लिए इस घटना को अंजाम दिया है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है.

 

घटना से सहमा घायल ड्राइलर देवकी सिंह

इस पूरी घटना को अपने आंखों से देखने वाला 35 वर्षीय पोकलेन चालक देवकी सिंह के पैर में गोली लगी है. जिसे इलाज के लिए रिम्स लाया गया. रिम्स के सर्ज़री विभाग में डॉ एसबी शर्मा के यूनिट ने घायल का इलाज़ चल रहा है. घायल देवकी सिंह घटना से इतना डरा हुआ है कि वह अपने चेहरे को कपड़े से ढक रखा है. पत्रकार जब घायल देवकी का फोटो खिंच रहे थे, उस दौरान घायल डर की वजह से बोलने लगा कि सर फोटो मत खींचिये नहीं तो वे लोग हमको भी जान से मार डालेंगे. देवकी हजारीबाग का रहने वाला है. रांची के तुपुदाना में रहकर वह पोकलेन  चलाकर अपना और अपने परिवार का भरण पोषण करता है. देवकी की स्थिति खतरे से बाहर बतायी जा रही है.

काम की जानकारी नही थी किसी को

जांच में आये रेलवे के एक अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि कंपनी का काम शुरु होने से पहले रेलवे पुलिस और संबंधित थाना को जानकारी दी जाती है. लेकिन एसके कंस्ट्रक्शन कंपनी ने किसी को कार्य शुरु करने की सूचना नहीं दी. अधिकारी को इतना भी नहीं पता था कि किस कंपनी को काम मिला है. इसको लेकर रेलवे के कुछ लोगों से भी फोन पर जानकारी लेने का प्रयास किया गया, लेकिन इनलोगों को भी इस बात की जानकारी नहीं थी कि नगड़ी में किस कंपनी का काम चल रहा है.

तीन दिन से बंद था काम

घटना को लेकर आसपास के ग्रामीणों ने बताया कि कई दिनों से लोदमा बालस्रिंग के बीच रेलवे दोहरीकरण के लिए मिट्टी का काम चल रहा है. विगत तीन दिन से काम बंद था. कार्यस्थल के नजदीक ही एक टेंट बनाकर कर्मी रहते हैं. शुक्रवार की सुबह सभी नास्ते की तैयारी कर रहे थे. तभी अपराधियों ने हमला कर दिया. किसी को भागने तक का मौका नहीं मिल सका.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: