न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नक्सलियों ने मसूदन स्टेशन का केबल पैनल फूंका, गया-जमालपुर ट्रैन हुई ट्रैसलेस, दो एएसएम अगवा

74

Bhagalpur : नक्सलियों ने आज बुधवार को बिहार-झारखंड बंदी का एलान किया था. जिसके बाद बंदी शुरू होते ही नक्सलियों ने मंगलवार देर रात भागलपुर-किउल रेलखंड पर मसूदन स्टेशन के पास केबल पैनल में आग लगा दिया. साथ ही रात 11.30 बजे किऊल-जमालपुर रेल खंड के मसुदन रेलवे स्टेशन के एएसएम मुकेश कुमार एवं पोर्टर निलेंद्र मंडल को अगवा कर जंगल की ओर लेते चले गये.

केबल पैनल में आग लगाये जाने की वजह से बाधित हुयी फोन सेवा

पैनल को आग के हवाले किये जाने के बाद कई ट्रेनें फंस गयी. ट्रेनों के परिचालन को रोक दिया गया. वहीं रात के करीब 11.20 बजे अभयपुर स्टेशन से खुली गया-जमालपुर पैसेंजर ट्रेन ट्रैसलेस हो गयी. रात के करीब एक बजे तक उसका पता नहीं चल पाया था. आरपीएफ इंस्पेक्टर परवेज खान ने बताया कि केबल पैनल में आग लगाये जाने की वजह से फोन की सेवा बाधित हो गयी है. जिसकी वजह से ट्रेनें ट्रैसलेस हो गयी हैं. मसूदन स्टेशन से भी संपर्क टूट गया है. वहीं बुधवार सुबर करीब 5.40 में रेल का परिचालन वापस से शुरू किया गया.

इसे भी पढ़ें- मिशनरीज को बढ़ावा देने के लिए अंग्रेजों ने जबरन हड़पी थी आदिवासियों की जमीन : महावीर विश्वकर्मा

नक्सलियों की धमकी के बाद रोका गया रेल परिचालन

परिजालन शुरू होते ही बुधवार की सुबह नक्सलियों ने अगवा किये गये एएसएम के मोबाइल से ही मालदा मंडल के प्रबंधक को फोन किया और कहा कि दिन भर के लिए रेल परिचालन को रोक दिया जाए. साथ ही नक्सलियों ने धमकी दी कि अगर रेल परिचालन नहीं रोका गया तो वे लोग अगवा किये गये रेलकर्मियों को जान से मार देंगे. फोन के बाद से सुबह करीब 7.40 बजे से किऊल-जमालपुर रेलखंड पर रेल परिचालन को वापस रोक दिया गया. फिलहाल एसटीएफ व सीआरपीएफ जवान अगवा किये गये रेलकर्मियों की खोज में लगे हुए हैं. 

नक्सलियों ने 20 दिसंबर को किया था बंदी का एलान

गौरतलब है कि झारखंड पुलिस द्वारा नक्सलियों के विरोध में चलाए जा रहे हैं ऑपरेशन ग्रीन हंट तथा मिशन 2017 को जनता पर थोपे गए बर्बरतापूर्ण अभियान बताकर नक्सलियों ने आगामी 18 तथा 19 दिसंबर को विरोध दिवस व आगामी 20 दिसंबर को एक दिवसीय बंदी का एलान किया है. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: