न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नक्सलवाद के खात्मे के 11 दिन शेष : गिरिडीह में माओवादियों ने मोबाइल टावर की मशीन उड़ायी

17

Giridih :  झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास और डीजीपी डीके पांडेय साल भर से यह दावा कर रहे हैं कि 31 दिसंबर 2017 तक नक्सलवाद खत्म हो जाएगा. 31 दिसंबर की समय सीमा खत्म होने में 11 दिन बचे हैं. और राज्य में नक्सली गतिविधि अब भी जारी है. छह दिसंबर को गिरिडीह के बगोदर में नक्सलियों ने पोस्टरबाजी की थी. उसके दो दिनों के बाद यानि कि आठ दिसंबर को गुमला के घाघरा थाना क्षेत्र के नौनी गांव  में नक्सलियों ने क्रसर प्लांट पर काम में लगे मशीनों को आग के हवाले कर दिया साथ ही धमकी भरा पर्चा भी छोड़ा था. इन घटनाओं के बाद गिरिडीह में एकबार फिर से माओवादियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करायी है. जिले के मुफ्फसिल थाना क्षेत्र स्थित बजटो पंचायत के मिर्जाडीह गांव में बीती रात माओवादियों ने मोबाइल टावर में लगी मशीन को माओवादियों द्वारा उड़ायें जाने का मामला सामने आया है .

इसे भी पढ़ें- नक्सलियों ने मसूदन स्टेशन का केबल पैनल फूंका, गया-जमालपुर ट्रैन हुई ट्रैसलेस, दो एएसएम अगवा

इसे भी पढ़ें- 20 दिसंबर को नक्सलियोंं का बिहार-झारखंड बंद, पुलिस अलर्ट

इसे भी पढ़ें- नक्सलवाद के खात्मे के 22 दिन शेष: गुमला में पीएलएफआई ने क्रसर प्लांट में मशीनों को किया आग के हवाले, छोड़ा पर्चा

इसे भी पढ़ें- नक्सलवाद के खात्मे के 24 दिन शेष: गिरिडीह के बगोदर में फिर पोस्टरबाजी, दहशत

बंद को लेकर सुरक्षाबल एलर्ट

स्थानीय लोगों बताया कि रात लगभग 9.30 बजे लोग खाना खाकर सोने की तैयारी में थे. तभी एक जोरदार धमाके की आवाज उन्हें सुनायी पड़ी, धमाके से डरे-सहमे लोगों ने अपने छत पर जाकर देखा तो पता चला कि माओवादियों ने मोबाइल टावर मे लगे मशीनों को उड़ा दिया है. गांव के सतीश वर्मा नाम के व्यक्ति की जमीन पर एयरटेल का टावर लगा हुआ है. इधर लोगों ने पुलिस को पूरे मामले की जानकारी दी जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल किया. इधर जिले भर में बंद को लेकर सामान्य असर देखा जा रहा है. आम दिन के तरह गाड़ियों व ट्रेनों का परिचालन है. वहीं बंद को लेकर अतिनक्सल इलाकों में परिचालन आम दिनों से थोड़ा कम है. वहीं बंद को लेकर सुरक्षाबलों को एलर्ट किया गया है. साथ ही प्रभावित इलाकों में कॉम्बिंग ऑपरेशन चलाया जा रहा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: