न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धनबाद : होमगार्ड की बेटियों ने पुलिस पर लगाया अभियुक्तों को बचाने का आरोप

62

Dhanbad : पुलिस पर अभियुक्तों को बचाने व उनके पक्ष में काम करने का आरोप लगाया गया है. यह आरोप होमगार्ड आयशा खातून और की बेटियां गुड़िया खान और जूली खान ने लगाया है. दोनों का आरोप है कि उनकी भाभी चांदनी खान को अगवा किए जाने और घर से लाखों के जेवर की चोरी के मामले पर पुलिस ने किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की है, साथ ही मामले पर लीपापोती करने का काम किया है.

इसे भी पढ़ें- राज्यसभा चुनाव की जीत के बाद यूपीए बना रहा है रणनीति, झारखंड लोकसभा में गठबंधन कर बीजेपी को घेरने की तैयारी

क्या है आरोप

दोनों बहनों का कहना है कि उनकी भाभी चांदनी ने डीएसपी (लॉ एंड ऑर्डर) मुकेश कुमार के ऑफिस में आकर सरेंडर किया था और अप्पू उर्फ महताब के साथ निकाह करने की बात कही थी. जिस वक्त उसने यह कहा था उस वक्त महताब का भाई पप्पू भी था जो कि केस का अभियुक्त है. लेकिन फिर भी डीएसपी ने अभियुक्त के सामने चांदनी का बयान लिया क्या यह कानूनन जायज है ? उन्होंने कहा कि हम इस बारे में ऊपर तक शिकायत करेंगे. उन्होंने कहा कि महताब ने साजिश के तहत उनकी भाभी चांदनी और नाबालिग बेटी को लाखों के गहनों के साथ भगा कर ले गया है. इस मामले में केस दायर किया गया है जिसमें चोरी की धारा 379 के भी लगी है. उन्होंने कहा कि अगर चांदनी अपनी मर्जी से महताब के साथ जाती तो सारे गहने कहां गये ? किसने सारे गहनों को रखा है ? गहना चोरी का जिम्मेदार कौन होगा ? जिसको पूरे मामले में अभियुक्त बनाया गया है उसे ऑफिस में बैठाकर रखा गया और जूली खान को पुलिस कस्टडी में धनबाद थाना भेज दिया गया.

इसे भी पढ़ें- झारखंड सरकारी कर्मियों की बल्ले-बल्ले, निर्वाचन आयोग ने दी सातवें वेतनमान के लिए हरी झंडी, बढ़कर मिलेंगे कई भत्ते

silk

कई दिनों से लापता थी आयशा की बहू चांदनी

गौरतलब है कि होमगार्ड आयशा खातून की बहू चांदनी कई दिनों से लापता थी. लेकिन 27 मार्च को वह डीएसपी के दफ्तर पहुंची थी. उसने वहां बताया कि उसने महताब से निकाह कर लिया है और अब वह अपनी बेटी के साथ महताब के घर रहेगी. जिसके बाद दफ्तर में आयशा और उसकी दोनों बेटियां जूली और गुड़िया ने काफी हंगामा किया था. उसी बाद को लेकर फिर से गुड़िया और जूली ने दोहराया कि अगर उनकी भाभी चांदनी ने निकाह कर लिया है तो बच्ची को उनकी मां आयशा को सौंप दिया जाए. क्योंकि सौतेले बाप से बेटी को क्या उम्मीद रहेगी. उन्होंने यह भी बताया कि चांदनी और बच्ची को सूरत ले जाया जा रहा है. गुड्डू अपहरण केस व गैंग्स के खिलाफ जो मामला दर्ज है उसमें अभियुक्तों को फायदा पहुंचाने के उद्देश्य से कोई बड़ी योजना की जा रही है. लेकिन वो लोग इस मामले  को लेकर चुप नहीं रहेंगी. साथ ही यह भी कहा कि उनके और उनकी मां को जान का खतरा भी है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: