Uncategorized

दिल्ली में ईसाई स्कूल पर हमला, केजरीवाल ने की निंदा

नई दिल्ली : राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के एक ईसाई स्कूल पर शुक्रवार सुबह हमला किया गया और तोड़फोड़ की गई। हमलावरों ने स्कूल परिसर में लगे कुछ सीसीटीवी कैमरे भी तोड़ दिए। दिल्ली के भावी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घटना की कड़े शब्दों में निंदा की है और कहा है कि इस तरह की घटनाएं बर्दाश्त नहीं की जाएंगी। दक्षिणी दिल्ली के वसंत विहार स्थित होली चाइल्ड ऑक्जीलियम स्कूल के कर्मचारियों ने पुलिस को बताया कि स्कूल परिसर में लगाए गए कुछ सीसीटीवी कैमरे तोड़ दिए गए और प्रधानाचार्य के कार्यालय में तोड़फोड़ की गई।

दिल्ली कैथोलिक आर्कडायसिस के प्रवक्ता फादर सावरिमुत्तू शंकर ने आईएएनएस से कहा, “कुछ अज्ञात लोगों ने शुक्रवार सुबह स्कूल परिसर में लगे कुछ सीसीटीवी कैमरे क्षतिग्रस्त कर दिए और प्रधानाचार्य के कार्यालय में तोड़फोड़ की।”

शंकर ने बताया कि घटना प्रकाश में आने के बाद सुबह स्कूल आने वाले बच्चों को वापस घर भेज दिया गया।

वहीं, घटना की जानकारी मिलने पर दिल्ली के भावी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसकी कड़ी निंदा की। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “मैं होली चाइल्ड ऑक्जीलियम स्कूल पर हुए हमले की कड़ी निंदा करता हूं। इस तरह की घटना बर्दाश्त नहीं की जाएगी।”

इस बीच, ईसाई समुदाय के लोगों का कहना है कि एक खास गिरोह के कुछ सदस्य जानबूझकर इस समुदाय को निशाना बना रहे हैं। पिछले 11 सप्ताह में यह ऐसा छठा हमला है।

शंकर ने कहा कि ये हमले ईसाई समुदाय के लोगों में डर पैदा करने की कोशिश है। दिसंबर 2014 से अब तक पांच गिरजाघरों पर हमले किए गए हैं और यह छठा ऐसा हमला है।

उन्होंने कहा, “हमें पहले लगता था कि इस तरह के हमलों का संबंध दिल्ली विधानसभा चुनाव से हो सकता है। लेकिन अब यह स्पष्ट हो गया है कि इसके पीछे कुछ कट्टरपंथी गिरोहों का हाथ है, जिसका उद्देश्य ईसाई समुदाय में खौफ पैदा करना है।”

फादर मैथ्यू कोयिकल ने आईएएनएस को बताया, “हमलावरों का उद्देश्य ईसाई समुदाय को कमजोर करना है। दिसंबर से अब तक एक खास अंतराल पर पांच गिरजाघरों को निशाना बनाया गया है। हमारी मांग है कि मामले की जांच सभी पहलुओं से की जानी चाहिए।”

गौरतलब है कि दिल्ली के वसंत कुंज स्थित सेंट अल्फोंसा गिरजाघर से कुछ सामान और एक डीवीडी प्लेयर दो फरवरी को चुराए गए थे। इससे पहले पश्चिमी दिल्ली में एक गिरजाघर में तोड़फोड़ की गई थी, और इस सिलसिले में तीन लोगों को 15 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था।

इससे पहले जनवरी में पश्चिमी दिल्ली के रोहिणी स्थित एक गिरजाघर में आग की खबर आई थी।

दक्षिणी दिल्ली के जसोला स्थित आवर लेडी ऑफ फातिमा फॉरेन चर्च में भी दिसंबर में पथराव किया गया था, जिससे खिड़कियों के शीशे टूट गए थे।

दिलशाद गार्डन स्थित सेंट सेबेस्तियन चर्च में भी दिसंबर में आग लगा दी गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button