Uncategorized

दिल्ली दुष्कर्म : दो और राज्यों में उबेर पर प्रतिबंध

नई दिल्ली : वैश्विक रेडियो टैक्सी कंपनी उबेर को तब एक और झटका लगा, जब उसकी सेवाओं पर गुरुवार को महाराष्ट्र तथा कर्नाटक में रोक लगा दी गई। वहीं 25 वर्षीय एक कामकाजी महिला से दुष्कर्म के आरोपी इस कंपनी के कैब चालक को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। कर्नाटक सरकार ने उबेर तथा तीन अन्य कैब को शुक्रवार से राजधानी बेंगलुरू में टैक्सी परिचालन करने पर रोक लगा दी, वहीं महाराष्ट्र ने कहा कि इस मामले में वह गृहमंत्री राजनाथ सिंह के परामर्श का पालन करेगा।

तमिलनाडु ने हालांकि कैब कंपनी को प्रतिबंधित करने से मना कर दिया, लेकिन उसने कहा कि आवश्यक सावधानियां बरती जाएंगी।

कर्नाटक के परिवहन आयुक्त रामे गौड़ा ने आईएएनएस से बेंगलुरू में कहा, “सांविधिक शहर टैक्सी योजना के तहत हमने उबेर, टैक्सी फॉर श्योर, कार्स ऑन रेंट तथा जूमचार के टैक्सी परिचालन पर रोक लगा दी है, क्योंकि वे हमसे पंजीकृत नहीं हैं।”

वहीं महाराष्ट्र सरकार के एक अधिकारी ने कहा, “हम केंद्र सरकार के परामर्श का पालन करेंगे। बाद में एक औपचारिक आदेश जारी कर दिया जाएगा।”

उधर, राष्ट्रीय राजधानी में पांच दिसंबर की रात 25 वर्षीय एक कामकाजी महिला से दुष्कर्म के आरोपी कैब चालक शिव कुमार यादव को एक अदालत ने आज (गुरुवार) 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

महानगर दंडाधिकारी रवींद्र कुमार पांडे ने यादव को 24 दिसंबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया। पुलिस ने कहा कि पूछताछ के लिए अब कैब चालक के हिरासत की जरूरत नहीं है।

32 वर्षीय यादव को रविवार शाम उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद से गिरफ्तार कर लिया गया था।

उल्लेखनीय है कि गिरफ्तारी के बाद यादव को अदालत ने सोमवार को तीन दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया था, जिसकी अवधि आज खत्म होने के बाद उसे फिर से अदालत में कड़ी सुरक्षा के बीच पेश किया गया।

जिला अदालतों के आर्थिक अधिकार क्षेत्र में वृद्धि से संबंधित विधेयक पेश करने में हो रही देरी को लेकर अनिश्चिकालीन हड़ताल पर चल रहे तीस हजारी अदालत के वकीलों ने दंडाधिकारी से कहा कि वकीलों ने अदालत में उपस्थित नहीं होने का फैसला किया है, लेकिन उन्होंने इस बात से आश्वस्त किया कि वे कानूनी प्रक्रिया में व्यवधान नहीं डालेंगे।

इस बीच, पुलिस ने अदालत से कहा कि उन्होंने मामले से संबंधित चीजों को बरामद किया है और आरोपी के खिलाफ फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस के इस्तेमाल के लिए अलग से प्राथमिकी दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि कैब कंपनी उबेर के खिलाफ धोखाधड़ी व वैध आदेशों का उल्लंघन करने का मामला मंगलवार को दर्ज किया गया। आईएएनएस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button