Uncategorized

डॉ आनंद शाही ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, बिजली दर बढ़ोत्तरी वापस लेने की मांग की

Hazaribagh : जनता कांग्रेस पार्टी के प्रदेश प्रभारी सह राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ आनंद शाही ने भाजपा सरकार द्वारा 1 मई से बिजली दर में बढ़ोत्तरी का जमकर विरोध किया है. उन्होंने सरकार को पत्र लिखकर गरीबों की मजबूरियों से अवगत कराने की कोशिश भी की है. उन्होंने अपने पत्र में मुख्यमंत्री से आग्रह किया है कि झारखण्ड भले ही खनिज संपदा और संसाधनों से भरा राज्य है, लेकिन यहां आज भी गरीबी और बेरोजगारी की कमी नहीं है. आप इस राज्य के मुखिया हैं आपको किसान, दैनिक मजदूर तथा गरीबों को देखते हुए फैसला लेने की जरूरत है. अचानक दुगनी बिजली दर कर देने से लोगों पर आर्थिक बोझ बढ़ जाएगा. वे अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा, घर चलाने और सामान्य जीवन जीने में असमर्थ हो आत्महत्या की ओर अग्रसित होने लगेंगे. झारखण्ड के लोगों को आपसे और आपके सरकार से काफी उम्मीद है.

इसे भी पढ़ें- नहीं लगेगा बिजली की बढ़ी दरों का करंट, सब्सिडी का प्रपोजल तैयार, सब्सिडी के साथ ही आएगा बिल

इसे भी पढ़ें- 17 साल बाद जेल से रिहा शिवनाथ ढूंढ़ रहे हैं दुल्हनिया, जेल की कमाई से रचायेंगे शादी

महंगाई चरम सीमा पर

डॉ शाही ने यह भी कहा कि महंगाई चरम सीमा पर पहुंच गयी है. सभी सामान महंगा होते जा रहा है. कभी पेट्रोल के दाम में बढ़ोत्तरी, तो कभी होल्डिंग टैक्स बढ़ोत्तरी यही सब चुकाने में गरीब जनता परेशान हैं. बच्चों की परवरिश करना गरीब जनता के लिए मुश्किल होते जा रहा है, अभी तो कई ऐसे गांव हैं जहां बिजली पहुंची भी नहीं है. अचानक बिजली दर की अत्यधिक बढ़ोत्तरी ग्रामीणों के लिए भी अभिशाप बन जायेगा. उन्होंने मुख्यमंत्री से आशा व्यक्त की है कि वे जरूर कोई ठोस निर्णय लेकर इस बिजली दर बढ़ोत्तरी के निर्णय को वापस लेंगे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button