न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

डिजिटल करंसी लाने की तैयारी में RBI, जून महीने तक आएगी रिपोर्ट

21

NewDelhi:  भारतीय रिर्जव बैंक डिजिटल करंसी लाने की तैयारी कर रही है. RBI की मौद्रिक नीति की बैठक में ये फैसला लिया गया कि वो जल्द ही अपनी वर्चुअल करंसी लाने की तैयारी में हैं. डिजिटल करंसीस को लेकर आरबीआई ने कहा कि डिजिटल पेमेंट के क्षेत्र में वर्चुअल करंसी के महत्व को नकारा नहीं जा सकता है. बिटकॉन जैसी करंसी को लेकर एक बेंच का गठन किया गया है, जो इस मुद्दे पर रिजर्व बैंक को गाइड करेगा.

इसे भी पढ़ेंकाला हिरण शिकार केस में सलमान खान को 5 साल की सजा, 10 हजार का जुर्माना, बाकी सभी आरोपी बरी

रिजर्व बैंक ने अपने पॉलिसी स्टेटमेंट में कहा है कि अभी जब कई देशों के केंद्रीय बैंक इस उलझन में ही हैं कि वर्चुअल करंसी पर क्या फैसला लिया जाए, आरबीआई ने इसकी संभावना तलाशने के लिए एक स्टडी ग्रुप भी गठित कर दिया है. RBI स्टेमेंट में कहा गया है, कि पेमेंट्स इंडस्ट्री में तेज बदलाव के साथ-साथ प्राइवेट डिजिटल टोकन्स के उभार एवं फिएट पेपर/मेटलिक मनी की बढ़ती लागत जैसे कारकों ने दुनियाभर के केंद्रीय बैंकों को फिएड डिजिटल करंसीज लाने के विकल्प तलाशने को प्रेरित किया है. जबकि कई देशों के केंद्रीय बैंक अब भी इस मुद्दे पर चर्चा ही कर रहे हैं, रिजर्व बैंक ने एक इंटरडिपार्टमेंटल ग्रुप का गठन कर दिया है. 

 इसे भी पढ़ेंजोधपुर जेल में आसाराम बापू के बगल में रहेंगे सलमान खान, सुरक्षा बढ़ाई जायेगी

जून तक आयेगी रिपोर्ट

इंटरडिपार्टमेंटल ग्रुप अपनी रिपोर्ट जून 2018 के आखिर तक सौंप देगा. हालांकि, आरबीआई ने वर्चुअल करंसी के उपयोग को लेकर चिंताएं भी जाहिर की हैं. उसने कहा, ‘वर्चुअल करंसीज समेत विभिन्न टेक्नलॉजिकल इनोवेशंज में इतनी ताकत है कि वह फाइनेंशियल सिस्टम को ज्यादा एफिशंट और इन्क्लूसिव बनाए. साथ ही RBI ने वित्तीय संस्थानों को हिदायत भी दी है कि वे बिटकॉइन समेत किसी भी वर्चुअल करंसीज में डील करनेवाले व्यक्ति अथवा संस्था से दूरी बनाकर रखें. पॉलिसी स्टेटमेंट में कहा गया है, कि रिजर्व बैंक ने बिटकॉइंस समते तमाम वर्चुअल करंसीज के यूजर्स, होल्डर्स और ट्रेडर्स को इनकी डीलिंग से जुड़े विभिन्न जोखिमों के प्रति लगातार सचेत किया है. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: