न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

डालटनगंज में लावारिस पशुओं की वजह से लोग हो रहे हैं परेशान, कई हुए घायल

34

Daltonganj : नगर निगम का दर्जा प्राप्त कर फूले नहीं समा रहे मेदिनीनगर नगरपालिका के कर्णधारों को यह बताना चाहिए कि शहर में आंतक मचाए हुए लावारिस पशुओं को मनमानी रोकने के क्या उपाय किए गए हैं ? पूरे शहर के हर चौक-चैराहों पर लावारिस पशुओं की मनमानी जारी है. लावारिस गाय-बैल के अलावा सुअर और बेलगाम कुत्तों का कहर भी झेल रहे हैं शहरवासी.

इसे भी पढ़ें- NEWSWING EXCLUSIVE: झारखंड की बेदाग सरकार में हुआ 18 करोड़ का कंबल घोटाला, न सखी मंडल ने कंबल बनाये, न ही महिलाओं को रोजगार मिला

कई लोगों को घायल कर चुके हैं लावारिस जानवर

कई लोगों को घायल कर चुके हैं लावारिस जानवर

नगर निगम के अधिकारी एक ओर शहर के सौंदर्यीकरण के दावे ठोक रहे हैं. वहीं दूसरी ओर शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को अस्त-व्यस्त करने वाले लावारिस पशुओं पर उनका कोई नियंत्रण नहीं रहा. पिछले दिनों पत्रकार एस.एस.रूबी को वार्ड नंबर-22 में जायंट्स भवन पथ पर एक बैल ने उठाकर पटक दिया. इस घटना के दो दिन बाद व्यवसायी मो. मुस्लिम और फिर एक दुकानदार राजेश साहू को लावारिस पशुओं ने घेर कर पटक दिया.

इसे भी पढ़ें- मारे गए इराक के मोसुल से लापता 39 भारतीय, सुषमा स्वराज ने संसद में दी जानकारी

सकूली बच्चों को घायल कर चुके हैं लावारिस कुत्ते

दिलचस्प बात यह है कि यह पशु स्कूटर-कारों पर भी अपना गुस्सा निकालते रहते हैं. शहर के हर कोने में लावारिस कुत्तों का जमावड़ा नजर आ जाएगा. कई स्कूली बच्चों को ये कुत्ते घायल कर चुके हैं. अभिभावक अस्पतालों के चक्कर लगा रहे हैं. सरकारी अस्पतालों में एंटी रैबीज का अभाव है. इसी वजह से प्राईवेट मैडिकल में लोग इलाज कराने को विवश हैं.

लावारिस जानवर

इसे भी पढ़ें- NEWSWING EXCLUSIVE: नौ लाख कंबलों में सखी मंडलों ने बनाया सिर्फ 1.80 लाख कंबल, एक दिन में चार लाख से अधिक कंबल बनाने का बना डाला रिकॉर्ड, जानकारी के बाद भी चुप रहा झारक्राफ्ट

घटना को लेकर चिंतित हैं लोग

अभिभावक संघ के अध्यक्ष एवं सार्वोच्च न्यायालय के अधिवक्ता किशोर पांडेय ने इन घटनाओं पर चिंता व्यक्त की है. साथ ही उन्होंने आवारा पशुओं के कहर से छुटकारा दिलाने के लिए कारगर उपाय करने की मांग जिला प्रशासन से की है. उन्होंने चेतावनी दी कि भविष्य में अगर कोई गंभीर घटना हुई और जानमाल को नुकसान हुआ तो नगर निगम पर मुकदमा  दायर करने में देर नहीं की जायेगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: