न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

डालटनगंज : डीडीसी ने दिया जेई को निर्देश, कहा – शौचालय निर्माण में क्वालिटी का रखें ध्यान

103

Daltonganj  : पलामू जिले में शौचालय निर्माण की गति तेज करने के उद्देश्य से 14वें वित्त के सभी जेई का एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन मंगलवार को डीआरडीए सभागार में किया गया. कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उप विकास आयुक्त सह नोडल पदाधिकारी स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) बिन्दू माधव सिंह ने कहा कि पलामू को खुले से शौचमुक्त करने एवं गुणवत्ता की कसौटी पर खरा उतरने के लिए 14वें वित्त के कनीय अभियंता की अति महत्वपूर्ण भूमिका है.

इसे भी पढ़ें: बॉम्बे हाइकोर्ट का एेतिहासिक फैसला, कहा- प्रेम संबंधों में सहमति से बना जिस्मानी संबंध बलात्कार नहीं

कनीय अभियंता खुद जिम्मेदारी लें और कार्य कराएं

कनीय अभियंता खुद जिम्मेदारी लें और कार्य कराएं. गुणवत्ता के मुद्दे पर वर्क प्रेशर नहीं, बल्कि क्वालिटी को ध्यान रखें. अपूर्ण, अर्धनिर्मित शौचालयों की रिपोर्टिंग कदापि नहीं करें. इसके साथ ही ढक्कन, स्लैब, पैन, पी ट्रैप और सभी तकनीकी नॉर्म्स को फॉलो करें. मुख्य प्रशिक्षक सह कार्यपालक अभियंता ने तकनीकी पक्ष की जानकारी दी. कनीय अभियंता से उन्होंने कहा कि शौचालय निर्माण के लिए 12000 रुपये की राशि प्राक्कलन नहीं है, बल्कि प्रोत्साहन राशि है.

धौनी, पंकज आडवाणी और शारदा सिन्हा को मिला पद्मभूषण सम्मान, राष्ट्रपति ने किया सम्मानित

एसबीएमजी के तकनीकी के जरिए ही बनाएं शौचालय

लाभुक चाहें तो अतिरिक्त राशि लगा कर अच्छा शौचालय बनाएं, लेकिन शौचालय का जो तकनीकी पहलू होगा वह एसबीएमजी का ही होगा. उन्होंने कहा की शौचालय निर्माण ही मकसद नहीं है बल्कि खुले से शौच मुक्त गांव का निर्माण करना है. कार्यक्रम 38 जेई, जिला समन्वयक धर्मेंद्र दुबे, कनक राज, अमित कुमार, मनोज कुमार सहित स्वच्छ भारत मिशन की पूरी टीम मौजूद थी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: