न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ट्रांसपोर्ट नगर पर राजनीतिक दलों ने कहाः बहुमत के अहंकार में नहीं, सबकी सलाह से फैसला ले सरकार

106

Ranchi: राजधानी रांची के पंडरा में ट्रांसपोर्ट नगर बनाने के राज्य सरकार के निर्णय का राजनीतिक विरोध जोरशोर से हो रहा है. विपक्ष का कहना है कि बहुमत के अहंकार की बजाय सबकी सलाह से फैसला लिया जाए. विपक्षी दलों के नेताओं ने आशंका जताई है कि कहीं पंडरा में ट्रांसपोर्ट नगर बनाने का फैसला राजधानी के लोगों के लिए भविष्य में परेशानी का सबब ना बन जाए. ट्रांसपोर्ट नगर पर विभिन्न राजनीतिक दलों की क्या राय है यह न्यूज विंग ने जानने की कोशिश की.

समझदारी से फैसला लेना राजधानी के हित में होगाः जेएमएम

जेएमएम के प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि रांची की बेहतरी के लिए मुख्यमंत्री की चिंता सराहनीय है, लेकिन अव्यवहारिक रूप से लिया जाने वाला निर्णय शहरवासियों में भ्रम पैदा कर रहा है. जिनकी सलाह पर मुख्यमंत्री ने यह निर्णय किया है इससे संशय पैदा हो रहा है. यह गंभीर संकट का विषय बन सकता है. उन्होंने कहा कि पंडरा एक मुख्य व्यवसायिक केंद्र के साथ-साथ अन्य राज्यों से झारखंड को जोड़ने वाले राजमार्गों का प्रमुख रास्ता है. यहां ट्रांसपोर्ट नगर बसाने की आपाधापी से कई अड़चनें पैदा होगी. उन्होंने सरकार से आग्रह किया है कि इस मसले पर समझदारी से फैसला लेना राजधानी के हित में होगा.

इसे भी पढ़ें- पंडरा कृषि बाजार में ट्रांसपोर्ट नगर बनाने की राह आसान नहीं

ट्रांसपोर्ट नगर बनाने का फैसला अनैतिकः आजसू

आजसू प्रवक्ता डॉ देवशरण भगत ने कहा कि पंडरा बाजार समिति में ट्रांसपोर्ट नगर बनाने की जो योजना सरकार के द्वारा प्रस्तावित हैं. वो पूरी तरह से अनैतिक है. सरकार को किसानों और दुकानदारों का ख्याल रखना चाहिये. जिससे की उनकी रोजी-रोटी चलती हैं, ना की उन्हें उजाड़ने का प्रयास करना चाहिये. उन्होंने कहा कि ट्रांसपोर्ट नगर बनने के लिये अधिक जमीन की जरुरत हैं, जो पंडरा में उपलब्ध नहीं है.

इसे भी पढ़ें- बाजार समिति को ट्रांसपोर्ट नगर बनाया गया तो ईंट से ईंट बजा देंगेः आदिवासी सेना

सरकार बस पूंजीपतियों के बारे में सोच रही हैः राजद

राजद प्रवक्ता डॉ मनोज कुमार ने कहा कि सरकार को ट्रांसपोर्ट नगर बनाने से पहले वहां के दुकानदार और ठेले खोमचे वाले को वैकल्पिक जगह उपलब्ध कराना चाहिए. तब ही इस प्रकार का योजना बनाने के बारे में सोचना चाहिए. किसानों को उजाड़ने से पहले बसाने की सोचें. सरकार बस पूंजीपतियों की बात बढ़ा रही है और गरीबों को दबा रही है. जो समाज के लिये धातक है.

इसे भी पढ़ें : मोमेंटम झारखंड का सचः एक माह पुरानी, एक लाख की कंपनी से सरकार ने किया 1500 करोड़ का करार

सरकार अपनी नहीं अधिकारियों की क्षमता का कर रही उपयोगः कांग्रेस

कांग्रेस प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि ट्रांसपोर्ट नगर पंडरा में बनाने की योजना जो है वो पूरी तरह अविवेकपूर्ण निर्णय है. रघुवर सरकार अपनी क्षमता का उपयोग करने में नाकाम साबित हो रही है. सरकार बस अधिकारियों की क्षमता उपयोग कर रही है. रातू रोड से पंडरा तक की जनता को बस परेशान कर रही है. इस फैसले से ट्रैफिक की समस्या अधिक बढ़ेगी.

इसे भी पढ़ेंः रधुवर दास : सदन को मजाक बना कर रखा है विपक्ष ने, मजाक तो आपने बना कर रखा है पूरे राज्य का : हेमंत सोरेन

ट्रांसपोर्ट नगर का फायदा कम, नुकसान ज्यादा हैः भाकपा माले

भाकपा माले के नेता भुनेश्वर केवट ने कहा कि सरकार ट्रांसपोर्ट नगर बनाने की जिद पर अड़ी है, जिसका नुकसान अधिक और फायदा कम है. पंडरा बाजार जिस मकसद से बना था उसे प्रोत्साहन की जरुरत है, ना की उजाड़ने की. अगर ट्रांसपोर्ट नगर बनाना है तो रिंग रोड की तरफ बनायें, जिससे जनता को कोई दिक्कत नहीं होगी. सरकार बेवजह किसानों को परेशान कर रही है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: