न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड PRD कुछ खास विभागों व लोगों के लिए है या सभी के लिए, खाद्य आपूर्ति विभाग का कवरेज क्यों नहीं : सरयू राय

7

NEWS WING

Ranchi, 29 November : खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने झारखंड के सूचना और जनसंपर्क विभाग (पीआरडी) पर गंभीर सवाल उठाए हैं. उन्होंने विभाग से पूछा है कि क्या यह विभाग कुछ खास विभागों और लोगों के लिए है. क्या सरकार के सभी विभाग के प्रचार-प्रसार की जिम्मेदारी पीआरडी को नहीं है. कहाः हर सरकार में यह व्यवस्था होती है कि उनका सूचना और जनसंपर्क विभाग हर विभाग का प्रचार प्रसार करे. लेकिन, झारखंड में पीआरडी की जिम्मेदारी कुछ चुनिंदा लोगों और विभाग का प्रचार प्रसार करना है. 

खाद्य आपूर्ति विभाग का कवरेज नहीं किया पीआरडी ने

खाद्य आपूर्ति विभाग के मंत्री सरयू राय पीआरडी विभाग से काफी नाराज दिखे. उनका कहना है कि आखिर मुकम्मल तरीके से सारी जानकारी विभाग को देने के बाद भी पीआरडी उनके विभाग का कवरेज क्यों नहीं करता है. उन्होंने बताया कि बीते मंगलवार को उनके कार्यालय में एक कार्यशाला का आयोजन हुआ था. इसकी जानकारी पीआरडी को दे दी गयी थी. सारा इनपुट भी उपलब्ध करा दिया गया था. इसके बाद भी विभाग ने कार्यशाला का कवरेज नहीं किया. किसी मीडिया हाउस को पीआरडी ने ना तो मेल कर जानरकारी दी और ना ही इसे गंभीरता से लिया. उन्होंने कहा कि यह एक गंभीर मामला था. आखिर ऐसी क्या वजह रही होगी कि पीआरडी ने कवरेज नहीं किया.

मंत्री के निजी सचिव करेंगे पीआरडी के सचिव से बात

पीआरडी विभाग से खफा मंत्री सरयू राय ने कहा कि मैंने अपने निजी सचिव को कहा है कि पीआरडी विभाग के सचिव से बात करें. उनसे पूछे की आखिर ऐसा क्या है उन विभागों में जिसका वो प्रचार-प्रसार करते हैं. जब विभाग को विधिवत सूचना दे दी गयी तो कवरेज क्यों नहीं किया गया. कहाः मेरे निजी सचिव उनसे पूछेंगे कि अगर उन्हें हमारे विभाग का कवरेज नहीं करना है तो वो साफ करें. अगर पीआरडी चुनिंदा विभागों की कवरेज करना चाहता है, तो अब हर विभाग अपने लिए खुद एक पीआर सेल डेवलप करेगा.

पीआरडी पर उठ रहे हैं गंभीर सवाल

झारखंड सूचना एवं जन संपर्क विभाग पर हाल में कई गंभीर सवाल उठे हैं. कुछ दिन पहले विपक्ष के नेता हेमंत सोरेन ने कहा था कि विज्ञापन को लेकर एक अखबार को धमकाया गया. सत्ता के गलियारे में अखबारों का विज्ञापन रोके जाने की चर्चा भी होती रहती है. उदाहरण के तौर पर रांची से प्रकाशित सभी अखबारों में 29 नवंबर के अंक में सरकारी विज्ञापन है. लेकिन, देश के कई राज्यों से प्रकाशित होने वाले अखबार ‘दैनिक भास्कर’ में एक भी सराकरी विज्ञापन नहीं है. विभाग के सचिव संजय कुमार हैं. संजय कुमार बिहार कैडर के आइएएस हैं और मुख्यमंत्री के पसंदीदे हैं. विभाग के डाइरेक्टर राम लखन गुप्ता हैं. जो सत्ता शीर्ष के महत्वपूर्ण व्यक्ति के करीबी बताये जाते हैं. पीआरडी के एक अन्य कर्मचारी (जो इन दिनों सत्ता शीर्ष के साथ घूमते पाए जाते हैं) के बारे में भी सूचना है कि उनकी नियुक्ति में नियमों का पालन नहीं किया गया है. 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: