Uncategorized

झारखंड में रिकॉर्ड 65 फीसदी मतदान

रांची : झारखंड में विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के मतदान के दौरान मतदाता नक्सलियों की धमकी को नजरअंदाज करते हुए मंगलवार को बड़ी संख्या में मतदान केंद्रों पर पहुंचे और मतदान के पिछले रिकॉर्ड को ध्वस्त किया। उप निर्वाचन आयुक्त उमेश सिन्हा ने आईएएनएस से कहा, “झारखंड में 64.99 फीसदी मतदान दर्ज किया गया, जबकि वर्ष 2009 में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान यह 58.26 फीसदी था। मतदान पूर्णत: शांतिपूर्ण रहा। राज्य में किसी भी अप्रिय घटना की खबर नहीं है।”

उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव के दौरान राज्य में 63.82 फीसदी मतदान हुआ था।

प्रदेश में सर्वाधिक मतदान भारागोरा में 73 फीसदी, मझगांव में 72 फीसदी, जबकि खरसावा में 71 फीसदी दर्ज किया गया।

नई दिल्ली में निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि 2009 में हुए विधानसभा चुनावों के दौरान 58.26 फीसदी दर्ज किया गया था, जबकि इस वर्ष हुए लोकसभा चुनाव के दौरान 63.82 फीसदी मतदान दर्ज किया गया था।

पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा मझगांव से चुनाव मैदान में थे।

नक्सल प्रभावित तथा ग्रामीण इलाकों में खासा मतदान देखा गया, जबकि शहरी इलाकों में कम मतदान दर्ज किया गया।

लोकसभा के पूर्व उपाध्यक्ष करिया मुंडा ने खूंटी में मतदान किया।

युवा मतदाताओं ने कहा कि वे राज्य में एक स्थिर सरकार चाहते हैं, क्योंकि बीते 14 वर्षो के दौरान झारखंड नौ सरकारें तथा चार बार राष्ट्रपति शासन का साक्षी रहा है।

राज्य के निर्वाचन अधिकारियों ने बताया कि इस चरण में 44 लाख से अधिक मतदाता 223 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे। इसके लिए 5,051 मतदान केंद्र बनाए गए थे।

राज्य के दो पूर्व मुख्यमंत्री- अर्जुन मुंडा और मधु कोड़ा क्रमश: सरायकेला और मझगांव से चुनाव मैदान में थे। दूसरे चरण के तहत हुए मतदान में राज्य के तीन मंत्रियों जिनमें कांग्रेस से बन्ना गुप्ता, गीतश्री उरांव और झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) से चंपई सोरेन की राजनीतिक किस्मत इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में कैद हो गई।

मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ और 18 सीटों पर तीन बजे खत्म हो गया, जबकि दो निर्वाचन क्षत्रों जमशेदपुर (पूर्व) तथा जमशेदपुर (पश्चिम) में शाम पांच बजे तक जारी रहा।

राज्य की 81 विधानसभा में से करीब 70 फीसदी सीटें नक्सल प्रभावित इलाकों में आती हैं, जहां मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की लंबी कतारें देखी गईं।

दूसरे चरण में जिन 20 विधानसभा सीटों के लिए मतदान हुए हैं, उनमें से 17 अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। वर्ष 2009 में हुए विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इनमें से आठ सीटों पर जीत दर्ज की थी।

इस बीच, निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने कहा कि झारखंड में मतदान के दौरान 1.1 करोड़ रुपये जब्त किए गए और यहां पेड न्यूज के 16 मामले प्रकाश में आए हैं। आईएएनएस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button