Uncategorized

झारखंड में बीमा योजना की अहमियत सबसे ज्यादा : राज्यपाल

रांची : शनिवार को राजधानी के एक होटल में आयोजित कार्यक्रम में ‘‘प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना’’, ‘‘प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना’’ और ‘‘अटल पेंशन योजना’’ की शुरुआत करते हुए राज्यपाल डॉ सैयद अहमद ने कहा कि ये योजनायें उन गरीबों, कमजोर वर्गों या कम आय वालों के लिए विषेश रूप से लाभकारी हैं, जिन्हें सामाजिक सुरक्षा नहीं मिल सकी थी। जो हमारे लिए और हमारे देश के लिए दिन-रात मेहनत करते हैं, मजदूरी करते हैं, पर सदैव ही असुरक्षित रहते हैं। इन योजनाओं के शुरू होने से आर्थिक रूप से कमजोर इन वर्गों की सामाजिक सुरक्षा संभव हो सकेगी।

राज्यपाल ने कहा ​कि झारखंड में तो इसकी और भी अहमियत है, जहां असंगठित मजदूर अधिक हैं। हर दिन इन्हें काम की तलाश में भटकना पड़ता है। कई लोगों की मृत्यु पर परिवार बेघर हो जाते हैं। आज यहां एक साथ तीन-तीन योजनायें लान्च हो रही हैं। इनमें से दो योजनायें तो बीमा से जुड़ी हैं जिनमें से पहली प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना है, जो सिर्फ 12 रूपये हर साल की दर पर दो लाख रुपये का दुर्घटना बीमा मुहैया करायेगी। वहीं सिर्फ 330 रुपये में वे प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना के तहत दो लाख रुपये का जीवन बीमा करा सकेंगे।

उद्घाटन के मौके पर डॉ अहमद ने तीसरी योजना के संबंध में कहा कि आज के इस ऐतिहासिक अवसर पर अटल पेंशन योजना, जो हमारे देश के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर है, को भी लांच किया जा रहा है। 18 से 40 वर्ष की आयु के लोग तय प्रीमियम का भुगतान कर इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। इस योजना के तहत एक हजार से पांच हजार की राशि तक हर महीना पेंशन के रूप में देय है। 60 वर्ष की आयु पूरी करने के बाद एक बड़े तबके को मासिक आय सुलभ नहीं हो पाता है। ऐसे में यह पेंशन लोगों के लिए वरदान के रूप में है। उन्होंने कहा कि इससे पहले भी प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत गरीबों की सुरक्षा के लिए कुछ ठोस कदम उठाये गये हैं, जिसका लाखों की संख्या में लोग फायदा उठा रहे हैं।

राज्य के नौ जिलों में शुरू हुई योजना : रघुवर दास

झारखण्ड में आयोजित इस योजना के लोकार्पण समारोह के अवसर पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि आज केन्द्र सरकार द्वारा समर्पित तीन सामाजिक सुरक्षा योजना के शुभारंभ पर झारखण्ड सरकार और राज्य की तीन करोड़ जनता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार प्रकट करती है।

उन्होंने कहा कि देश के विभन्न राज्यों के साथ ही झारखण्ड के नौ जिलों एवं विभिन्न प्रमण्डलों में इस योजना की शुरुआत की जा रही है। राज्य में अब तक कुल 14 लाख लोग फॉर्म भर चुके हैं। उन्होंने कहा कि झारखड सरकार का लक्ष्य होगा कि यहां की तीन करोड़ 29 लाख जनता में 1.50 करोड़ लोगों को इस योजना का लाभ मिल सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का लक्ष्य होगा कि इस योजना के तहत बेरोजगार युवकों, बुजुर्गों, महिलाओं एवं समाज के गरीब तबकों से लेकर सभी वर्ग के लेागों को लाभ मिले। उन्होंने बैकों से अपील की कि केन्द्र सरकार द्वारा समर्पित इस योजना का लाभ आम लोगों तक पंहुचे इसके लिये गांवो में शिविर लगा कर लोगों को इससे जोड़ें।

कार्यक्रम में मौजूद केन्द्रीय मंत्री नेरन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि समाज के प्रत्येक व्यक्ति को लाभ पहुंचाना केन्द्र सरकार की प्राथमिकता है। इस योजना का लाभ समाज के प्रत्येक वर्ग के लेागों को मिलेगा। इस अवसर पर बैंक आॅफ इंडिया की सीएमडी श्रीमती अय्यर ने सभी लोगों से इस योजना का लाभ लेने की अपील की। उन्होंने कहा कि एक जून 2015 से इन योजनाओं की शुरुआत की जायेगी।

इस अवसर पर रांची लोकसभा के सांसद रामटहल चौधरी, हटिया के विधायक नवीन जयसवाल, कांके विधायक जीतू चरण राम, रांची की महापौर आशा लकड़ा, जिप अध्यक्ष सुंदरी तिर्की, वित्त विभाग के प्रधान सचिव अमित खरे, ग्रामीण विभाग के प्रधान सचिव एन.एन. सिन्हा, कार्मिक विभाग के प्रधान सचिव एस.के. सत्पथी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव संजय कुमार, झारखण्ड राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति के महाप्रबंधक आई.एम. मलिक सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button