न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

झारखंड में तेजी से बढ़ रहे हैं टीबी के मरीज, हर घंटे 24 लोग होते हैं शिकार

35

Ranchi : राज्य में टीबी एक नए रुप में बड़ी स्वास्थ्य समस्या के रुप में उभरी है. राज्य में हर घंटे जहां 24 नए रोगी टीबी के शिकार हो रहे हैं तो हर साल करीब 15 सौ लोगों की मौत के लिए किसी न किसी रुप में टीबी ही जिम्मेदार होता है. अगर बात वर्ष 2017 की करें तो झारखंड में 44582 टीबी के नये मरीज मिले हैं. जिनमें 36851 मरीज सरकारी अस्पतालों में मिले हैं, वहीं 7626 टीबी के केस निजी अस्पतालों में मिले हैं. हालांकि सरकार का अनुमान है कि यह आंकड़ा भी लगभग 30 हजार कम है. वजह है कि अभी भी निजी अस्पतालों व निजी क्लिनिक में टीबी का इलाज करा रहे मरीजों की जानकारी सरकार तक पूरी तरह नहीं आ पाती है. 

eidbanner

जानकारी नहीं देने वालों को हो सकती है दो साल की सजा  

हालांकि टीबी की जानकारी नहीं देने वाले डॉक्टरों, हेल्थ वर्करों और फार्मासिस्ट को दो साल तक जेल की सजा हो सकती है. भारत सरकार ने टीबी की रिपोर्ट नहीं देनेवालों के खिलाफ आइपीसी की धारा 269 और 270 के तहत कार्रवाई करने का प्रावधान किया गया है. आइपीसी की धारा 270 के तहत दो साल तक की जेल, अर्थदंड या दोनों ही सजा का प्रावधान किया गया है. 269 में छह माह तक की सजा, अर्थदंड या फिर दोनों ही सजा का प्रावधान किया गया है.

oioioiooi

 

इसे भी पढ़ें: सूबे में गर्भवती महिलाओं की स्थिति चिंताजनक, प्रसव के दौरान प्रति लाख महिलाओं में से 208 की हो जाती है मौत

2025 तक टीबी मुक्त झारखंड का लक्ष्य

राज्य के मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी ने कहा कि टीबी के खिलाफ अब इंटिग्रेटेड लड़ाई होगी. सरकार गैरसरकारी संगठनों के साथ-साथ आम लोगों की सहभागिता से वर्ष 2025 तक टीबी मुक्त झारखंड बनाने का लक्ष्य है. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री द्वारा 2025 तक देश को टीबी से मुक्त करने की घोषणा की गयी है. इसी के तहत अब निजी अस्पताल या सरकारी अस्पताल सबको टीबी मरीज की सूची देनी होगी.

gfdgfdg

 

इसे भी पढ़ें: मनोविकार के उपचार में सहायक हो सकता है पूरक आहार

राज्य में टीबी का हाल

राज्य में हर साल करीब 35 हजार टीबी रोगियों की रिपोर्टिंग होती है. वास्तविक संख्या इससे बहुत अधिक हो सकती है, क्योंकि विभाग को सिर्फ सरकारी अस्पतालों से आंकड़ा मिलता है. विशेषज्ञों के मुताबिक टीबी पर सोशल-इकोनॉमी स्टेट्स का असर नजर आता है. गरीब और अशिक्षित लोग इसके ज्यादा शिकार होते हैं. टीबी के चलते झारखंड के आर्थिक स्थिति पर भी असर पड़ रही है.
 

sdfsdfsdf

दवा बेअसर

राजधानी रांची सहित राज्यभर में वैसे रोगियों की संख्या बढ़ रही जिनपर टीबी की सामान्य दवाओं का असर नहीं होता. ऐसा इसलिए होता है कि राज्य में ज्यादातर रोगी टीबी की दवा बीच में ही छोड़ देते हैं. टीबी उन्मुलन के लिए चल रहे कार्यक्रम के ब्रांड एम्बैस्डर दीपिका कुमारी ने आम लोगों से अपील की कि दवा पूरी लें. तो स्वास्थ्यमंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा कि राज्य में टीबी रोग से निपटने के लिए सुविधाएं बढायी जा रही हैं. सूबे में टीबी की बीमारी एक लाइलाज बीमारी के रुप में तब्दील होती जा रही है. दवाओं के प्रति बेअसर टीबी के बैक्टेरिया अपना पांव पसार रहे हैं और सूबे की बड़ी आबादी पर यह खतरा बढ रहा है. उम्मीद की जानी चाहिए कि टीबी कॉल टू एक्शन कार्यक्रम का असर दिखेगा और राज्य 2025 तक टीबी मुक्त राज्य होगा.

इसे भी पढ़ें: महिला सुरक्षा एप्प की है भरमार, जाने एप्प के जरिए कैसे रखे खुद को सुरक्षित

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

मरीजों को हर माह दिया जाता है 500 रुपये

 सरकार की ओर से टीबी के मरीजों को पोषणयुक्त आहार लेने के लिए प्रत्येक माह 500 रुपये दिये जाते हैं. यह राशि उन्हीं मरीजों को मिलती है, जो सरकार के यहां नोटिफाइड हैं. यह राशि डीबीटी के माध्यम से सीधे मरीजों के खाते में जाती है. 

bcvbcvb

 

टीबी के लक्षण

1) 2 हफ्ते से ज्यादा लगातार खांसी

2) खांसी के साथ बलगम आ रहा हो या  कभी-कभार खून भी

3) भूख कम लगना

4) लगातार वजन कम होना

5) शाम या रात के वक्त बुखार आना

6) सर्दी में भी पसीना आना

7) सांस उखड़ना या सांस लेते हुए सीने में दर्द होना

fgfdg

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: