न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड में तंबाकू के इस्तेमाल में गिरावट, उपयोग कम करने के लिए और प्रयास की जरूरत

25

NEWSWING

Ranchi, 05 December : झारखंड में तंबाकू के इस्तेमाल में गिरावट आयी है. ग्लोबल एडल्ट टोबैको सर्वे (GATS 2) 2016-17 के आंकड़ों के मुताबिक यह पता चला है कि झारखंड के वयस्कों में तंबाकू का इस्तेमाल (GATS 1) 2009-10 सर्वे की तुलना में कम हो गया है. यह GATS 1 में 50.1% से घटकर GATS 2 में 38.9% रह गया है. हालांकि इस अवधि के दौरान धूम्रपान व्यसकों में 9.6% से 11.1% तक बढ़ गया है और धुआं रहित तंबाकू के उपयोग में लगभग 6% की कमी आयी है. राज्य में खैनी और गुटखा सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला तंबाकू उत्पाद है. 26.6% वयस्क खैनी का इस्तेमाल करते हैं और 8.3% वयस्क गुटखा का उपयोग करते हैं. राज्य में बीड़ी पीने वाले लोगों का आंकड़ा 5.2% है जबकि सिगरेट पीने वाले लोगों का आंकड़ा 6.5% है.

तंबाकू का सेवन तेजी से बढ़ने वाली समस्या: रामचंद्र चंद्रवंशी

झारखंड सरकार के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा कि तंबाकू तेजी से बढ़ने वाली समस्या है. हर साल भारत में तंबाकू के सेवन से होने वाली बीमारियों से 10 से 12 लाख लोगों की मौत हो जाती है. उन्होंने कहा कि यह देश के लिए उत्पादकता और अर्थव्यवस्था के लिए एक बड़ी चुनौती है. भारत में कैंसर से मरने वाले रोगियों में 100 से 40 लोग तंबाकू के सेवन से होती है. इसके उपयोग से हृदय रोग और रक्त संबंधी बीमारियों के फैलने का खतरा रहता है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: