Uncategorized

झारखंड : अंतिम चरण में 70 फीसदी मतदान

रांची : झारखंड में विधानसभा चुनाव के लिए पांचवें व अंतिम चरण का मतदान शनिवार को शांतिपूर्ण संपन्न हो गया। शुरुआती आंकड़ों के अनुसार करीब 70 फीसदी मतदाताओं यानी 25 लाख लोगों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।

अंतिम चरण में 16 सीटों पर मतदान कराए गए, जिनमें से सात अनुसूचित जनजातियों के लिए आरक्षित हैं।

निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने बताया, “पांचवें और अंतिम चरण में शनिवार को राज्य में 70.42 फीसदी मतदान हुए। सबसे अधिक मतदान पाकुड़ (75.5 फीसदी) और लिट्टीपाड़ा (75 फीसदी) में हुआ।”

अधिकारी ने बताया कि सबसे कम मतदान महगामा (66.32 फीसदी) में हुआ।

मतदान संपन्न होने के साथ ही इस चरण में 16 महिला उम्मीदवार सहित 208 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में बंद हो गई।

इस चरण में 36 लाख 90 हजार 69 मतदाताओं को अपने मताधिकार का इस्तेमाल करना था, जिनमें से 19 लाख चार हजार 11 पुरुष तथा 17 हजार, 84 लख 846 महिलाएं शामिल थीं। मतदान के लिए तीन हजार 773 केंद्र बनाए गए थे।

मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ और अपराह्न तीन बजे समाप्त हो गया।

कुल मतदान केंद्रों में से 833 को अति संवेदनशील तथा 1,496 को संवेदनशील घोषित किया गया था। पांचवें चरण के लिए करीब 22,240 सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया था।

इस चरण के साथ ही झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की किस्मत ईवीएम में बंद हो गई। पिछले विधानसभा चुनाव में वह दुमका से निर्वाचित हुए थे, जबकि इस बार वह दुमका के साथ-साथ बारहट से भी चुनाव लड़ रहे हैं।

इससे पहले 2009 में हुए विधानसभा चुनाव में झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुको) ने इन 16 में से नौ सीटों पर और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दो सीटों पर जीत हासिल की थी।

इस चरण के तहत जिन अन्य प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होना है, उनमें झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष शशांक शेखर भोक्ता, मंत्री लॉबिन हेमब्रॉम, शिबू सोरेन की बहू व हेमंत सोरेन की भाभी सीता सोरेन, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय सचिव लुईस मरांडी तथा पूर्व मंत्री साइमन मरांडी प्रमुख हैं। आईएएनएस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button