न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

जामताड़ा: छात्रा शाहीना की मौत के बाद 407 छात्राओं ने छोड़ा कस्तूरबा विद्यालय

111

Jamtara : कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय दुलाडीह जामताड़ा में नौवीं कक्षा की छात्रा शाहीना खातून का शव बाथरुम के शॉवर से लटका हुआ मिलने के बाद पूरे स्कूल में भय का माहौल बना हुआ है. डर के कारण विद्यालय की अधिकांश छात्राएं अपने अभिभावकों के साथ विद्यालय छोड़ घर जा चुकी हैं. एक छात्रा से जब स्कूल छोड़ने की वजह पुछी गई तो उसने कहा कि शाहीना की मौत के बाद हम सभी छात्राएं डर गयी हैं, इसलिये हम कुछ दिनों के लिये घर में रहना चाहते हैं.

eidbanner

इसे भी पढ़ें: रानीगंज में सांप्रदायिक दंगा : बारूद से थर्राया शहर, दो की मौत, कई घायल, बम से डीसीपी का हाथ उड़ा

 मात्र 20 छात्राएं ही रह गई हैं स्कूल में

विद्यालय में कुल 518 छात्राओं का एडमिशन लिया गया है. वहीं, जिस दिन शाहीना की मौत की घटना घटी थी उस दिन स्कूल में 427 छात्राएं मौजूद थीं. घटना शनिवार की है. घटना के ठीक एक दिन बाद रविवार को विद्यालय से 400 छात्राएं अभिभावक के साथ विद्यालय से चलीं गयी हैं. फिलहाल विद्यालय में मात्र 20 छात्राएं ही रह गई है.

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री जनसंवाद में सीएम रघुवर दास ने मुआवजा, पानी समेत कई समस्याओं का किया निपटारा

हत्या है या आत्महत्या इसकी जांच होनी चाहिए

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

सोमवार को राजबड़ी के शास्त्रीनगर निवासी छात्रा की मां अपनी दो बेटीयों को विद्यालय से लेने आई थी. उन्होंने बताया कि बच्चियों ने फोन पर घटना के बारे में जानकारी दी. जब हम यहां पहुंचे तो बच्चियों ने घर जाने की बात कही. उन्होंने कहा कि बच्चियों को कुछ दिनों के लिए घर लेकर जा रहे है, कुछ दिन घर पर रहेंगी तो बच्चियों का मन बहल जाएगा और भय से उबर जाएंगी. वहीं दूसरे अभिभावकों ने कहा कि घटना के बाद से छात्राओं में भय है. यह मामला हत्या का है या आत्महत्या का इसकी पूरी जांच की जानी चाहिए. साथ ही यह भी काहा कि मामले को लेकर स्कूल प्रबंधन समिति व अभिभावकों की बैठक होनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें: लोहरदगा : 15 लाख का इनामी उग्रवादी जेजेएमपी सुप्रीमो मंजीत साहू ने किया सरेंडर

350 छात्राओं की व्यवस्था, एडमिशन 518 का

वर्तमान में जामताड़ा के दो विद्यालयों में कस्तूरबा का संचालन किया जा रहा है. कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय, दुलाडीह जामताड़ा और झारखंड बालिका आवासीय विद्यालय करमाटांड़ में संचालित है. विद्यालय में कुल 350 छात्राओं के रहने और पढ़ने की व्यवस्था है. लेकिन अगर बात करें एडमिशन की तो 518 छात्राओं का एडमिशन है. छात्राओं की संख्या के अनुसार स्कूल में कमरे भी कम है. इसके अलावे नए सत्र में 150 और छात्राओं का नामांकन लिया जाना है.

 न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: