न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जब मर्लिन मुनरो के प्रशंसक हॉकिंग ने 200 साल के भीतर धरती के खात्मे की भविष्यवाणी कर सनसनी फैला दी

39

London : महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग एक रहस्यमय पहेली थे. मर्लिन मुनरो के प्रशंसक हॉकिंग ने ना केवल ब्रह्मांड की खोज की बल्कि वह एक बेहतरीन लेखक भी थे.  बता दें कि स्टीफन हॉकिंग का कैम्ब्रिज स्थित उनके आवास पर निधन हो गया. उनके परिवार ने यह जानकारी दी है.  1962 में उन्हें मांसपेशियों से जुड़ी बीमारी हुई थी. बीमारी होने के बाद उन्होंने ना केवल बार-बार अपनी मौत को मात दी,  बल्कि दुनिया के सामने विज्ञान से जुड़े कई अहम खुलासे भी किये. वह हॉकिंग ही थे, जिन्होंने 2010 में यह कहकर भी सनसनी फैला दी थी कि 200 साल के भीतर धरती का विनाश हो जायेगा.

इसे भी पढ़ें- नहीं रहे दुनिया को बिग बैंग, ब्लैक होल्स का रहस्य बताने वाले ब्रिटिश वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग, 76 साल की उम्र में हुआ निधन

स्वर्ग को डरने वालों की कहानी बताया था

2007 में विकलांगता के बावजूद उन्होंने विशेष रूप से तैयार किये गये विमान में बिना गुरुत्वाकर्षण वाले क्षेत्र में उड़ान भरी. वह 25-25 सेकेण्ड के कई चरणों में गुरुत्वहीन क्षेत्र में रहे.  इसके बाद उन्होंने अंतरिक्ष में उड़ान भरने के अपने सपने के और नजदीक पहुंचने का दावा भी किया. उन्होंने स्वर्ग की परिकल्पना को सिरे से खारिज कर दिया था. उन्होंने स्वर्ग को डरने वालों की कहानी करार दिया था.

इसे भी पढ़ें- झारखंड सरकारी कर्मचारियों को सांतवा वेतनमान के भत्ते पर कैबिनेट की मुहर, राज्य निर्वाचन आयोग की हरी झंडी के बाद मिलेगा लाभ

…तो अंतरिक्ष में आशियाना बनाना पड़ेगा

2010 में दिये अपने बयान में हॉकिंग ने कहा था कि बढ़ती आबादी, घटते संसाधन और परमाणु हथियारों के इस्तेमाल का खतरा लगातार धरती पर मंडरा रहा है. अगर इंसान को इससे बचना है तो अंतरिक्ष में आशियाना बनाना पड़ेगा. विपरीत परिस्थितियों में जिंदा रहने के सिद्धांत का हवाला देते हुये हॉकिंग ने कहा था कि पहले इंसान के अनुवांशिक कोड में लड़ने-जूझने की जबरदस्त शक्ति थी. उन्होंने कहा था कि 100 साल बाद यदि इंसान को अपना अस्तित्व बचाना है तो धरती को छोड़कर कोई दूसरा ठिकाना खोजना होगा.  

इसे भी पढ़ें- ट्विटर पर प्रधानमंत्री मोदी के 2 करोड़ 44 लाख फॉलोअर्स फर्जी, ट्विटर ऑडिट के जरिये खुलासा

थ्योरी ऑफ एवरीथिंग पर फिल्म भी बन चुकी है

हॉकिंग का  1988 में उन्हें सबसे ज्यादा चर्चा मिली थी,  जब उनकी किताब ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम: फ्रॉम द बिग बैंग टु ब्लैक होल्स’ मार्केट में आयी. यह उनकी पहली पुसतक थी. यह  दुनिया भर में साइंस से जुड़ी सबसे ज्यादा बिकने वाली किताब मानी जाती है. विश्व भर में प्रसिद्ध इस ब्रह्मांड विज्ञानी पर 2014 में  थ्योरी ऑफ एवरीथिंग नामक फिल्म भी बन चुकी है.  हॉकिंग अतीत में जाने का रास्ता और भविष्य में जाने का शॉर्टकट तलाशना चाहते थे.  उन्होंने कहा था एक जमाने में बीते कल की यात्रा किये जाने की बात को वैज्ञानिकों की सनक मान जाता था.  उन्हें खुद भी इस बारे में बात करने से डर लगता था,  लेकिन फिर उन्होंने इस बात की परवाह करनी छोड़ दी  थी. गौरतलब है कि हॉकिंग खूबसूरत हीरोइन हॉकिंग मार्लिन मुनरो के प्रशंसक थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: