न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

छत्तीसगढ़ : सीआरपीएफ की 259 कंपनियों के लिए बारूदी सुरंगों का जाल परेशानी का बन रहा है सबब

45

Raipur : बारूदी सुरंगें सुरक्षा बलों का काल बन रही हैं. अभी तक सुरक्षा बल इसका तोड़ नहीं निकाल पाये हें. छत्तीसगढ़ में तैनात सीआरपीएफ की 259 कंपनियों के लिए यह परेशानी का सबब है. सुरक्षा बलों ने पाया है कि खास कर छत्तीसगढ़ के बस्तर के जंगलों में बारूदी सुरंगों का जाल बिछा हुआ है. विशेषज्ञों के अनुसार बारूदी सुरंगों की पहचान करनेवाले मेटल डिटेक्टर जमीन में ज्यादा गहराई तक काम नहीं करते.

mi banner add

इसे भी पढ़ें: भ्रष्टाचार पर करारा प्रहार के नाम पर सिर्फ छोटे कर्मियों और अधिकारियों पर चला सरकारी डंडा, एसीबी की कार्रवाई पर झारखंड सरकार थपथपा रही अपनी पीठ

स्निफर डॉग भी गहराई में दबी बारूदी सुरंगों को सूंघ नहीं पाते

यहां तक कि स्निफर डॉग भी गहराई में दबी बारूदी सुरंगों को सूंघ नहीं पाते. गौरतलब है कि इन दिनों नक्सली मेटल डिटेक्टर से बचने के लिए प्लास्टिक के कंटेनर और शराब की बोतलों का उपयोग बम बनाने में कर रहे हैं. इन सुरंगों से बचने के लिए सुरक्षा बल के जवान वाहनों पर नहीं चलते, पर पैदल या बाइक पर चलना भी सुरक्षित नहीं माना जा रहा है. पैदल चल रहे सुरक्षा बलों को जाल में फंसाने के लिए नक्सलियों ने जगह-जगह प्रेशर बम लगा रखे हैं. वर्तमान में पैदल और बाइक पर चल रही बलों की बारूदी सुरंगों के धमाके में उड़ाये जाने की घटनाएं हो रही हैं.  बस्तर के नक्सल प्रभावित सभी सातों जिलों में बारूदी सुरंगों के धमाके हो चुके हैं. सबसे ज्यादा खतरा सुकमा जिले में बताया गया है. 

इसे भी पढ़ें: चुनाव आयोग ने राज्य सरकार से फिर कहा, एडीजी अनुराग गुप्ता और मुख्य मंत्री के प्रेस सलाहकार अजय कुमार पर दर्ज करें प्राथमिकी

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

बस्तर में फोर्स ने 17 बारूदी सुरंगें बरामद किया है

सीआरपीएफ के अनुसार पिछले तीन महीने में बस्तर में फोर्स ने 17 बारूदी सुरंगें बरामद की हैं.  इनमें से आठ सुकमा जिले के जंगलों से मिली हैं.  6 अप्रैल 2017 तक सीआरपीएफ ने कुल 459 किलो बारूद बरामद किय है. बताया गया है कि इतना बारूद किसी बड़ी सेना को उड़ाने के लिए काफी है. 2017 के पहले के छह माह में छत्तीसगढ़ 15 नक्सली घटनाएं हुयी, जिनमें 38 सीआरपीएफ जवान शहीद हुए हें. इस क्रम में आंध्रप्रदेश में एक, बिहार में तीन, झारखंड में चार, महाराष्ट्र में आठ  और ओड़िशा में एक घटना की सूचना है.

  न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: