न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चुनाव को लेकर सील हुई भारत-नेपाल सीमा

11

News Wing

Bahraich, 05 December: नेपाल में हो रहे संसद और विधानसभा चुनावों के दूसरे चरण के मतदान के मद्देनजर भारत-नेपाल की सीमा को आगामी सात दिसम्बर तक के लिए सील कर दिया गया है. चुनाव को देखते हुए सीमा पर खुफिया तथा अन्य सुरक्षा एजेंसियों की सक्रियता बढ़ा दी गई है.

सात दिसंबर की शाम से सुचारु हो जाएगा आवागमन

सीमा पर भारतीय अर्ध सैनिक बल के जवानों के साथ ही नेपाली बल ने भी अपने-अपने इलाकों में मोर्चा संभाल लिया है. सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) की 42वीं वाहिनी के उप सेनानायक शैलेन्द्र पान्डे ने आज बताया कि लोगों को मेडिकल आवश्यकताओं तथा आपातकालीन जरूरतों तथा पैदल आवागमन की सुविधा सघन चेकिंग तथा पूछताछ के बाद ही दी जा रही है. हर तरफ आने जाने वालों पर नजर रखी जा रही है. उन्होंने बताया कि सोमवार रात को सीमा सील हुई है और सात दिसंबर की शाम को मतदान समाप्त होने के बाद ही सीमा पर आवागमन सुचारु रूप से शुरू हो सकेगा.

यह भी पढ़ें: यूपी नगर निकाय चुनाव में भाजपा का जबर्दस्त प्रदर्शन, मेयर की 16 सीटों में से 14 पर BJP का कब्जा

बड़ी संख्या में नेपाली नागरिक करते है भारत में नौकरी

डिप्टी कमान्डेन्ट ने बताया कि सीमावर्ती इलाकों में एसएसबी, वन विभाग, कस्टम, जिला पुलिस और आबकारी विभाग की संयुक्त टीमें गश्त कर रही हैं. मालूम हो कि बड़ी संख्या में नेपाली नागरिक भारतीय क्षेत्र में नौकरी करते हैं जिन्हें मतदान में शामिल होने के लिए कड़ी तलाशी व पूछताछ के बाद पैदल नेपाल सीमा में प्रवेश कराया जा रहा है.

यह भी पढ़ें: अखिलेश राज में आजम तो योगी राज में BJP विधायक की भैंस चोरी, पूरी शिद्दत से ढूंढ़ रही यूपी पुलिस

पहली बार संसदीय और विधानसभाओं के चुनाव हो रहे हैं नेपाल में

नेपाल में संसदीय और सात प्रांतीय विधानसभाओं के चुनाव के लिए पहले चरण का मतदान गत 26 नवम्बर को संपन्न हुआ था. दो चरणों में होने वाले चुनाव के दूसरे व अंतिम चरण के लिए सात दिसंबर को वोट डाले जाएंगे. पहले चरण में नेपाल के उत्तरी इलाके में वोट डाले गए थे जबकि दूसरे चरण में काठमांडू घाटी और तराई के नाम से जाने जाने वाले दक्षिण के मैदानी इलाकों में मतदान होना है. नेपाल में सितंबर 2015 में लागू हुए नए संविधान के तहत पहली बार संसदीय और विधानसभाओं के चुनाव हो रहे हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: