न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चुनाव आयोग ने राज्य सरकार से फिर कहा, एडीजी अनुराग गुप्ता और मुख्य मंत्री के प्रेस सलाहकार अजय कुमार पर दर्ज करें प्राथमिकी

32

Ranchi: चुनाव आयोग ने एक बार फिर से राज्य सरकार से कहा है कि वह एडीजी स्पेशल ब्रांच अनुराग गुप्ता और मुख्यमंत्री के तत्कालीन राजनीतिक सलाहकार (अब प्रेस सलाहकार) अजय कुमार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करे. चुनाव आयोग का पत्र नौ मार्च को राज्य के मुख्य सचिव कार्यालय में पहुंच गया है. इससे पहले जून 2017 में आयोग ने तत्कालीन मुख्य सचिव राजबाला वर्मा को पत्र लिख कर कहा था कि दोनों के खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 171बी और 171सी के तहत कार्रवाई करने का आदेश दिया था. सूचना के मुताबिक चुनाव आयोग ने अपने उसी आदेश का पालन करने के लिए राज्य सरकार को रिमाइंडर भेजा है. 

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों राज्य सरकार ने जून 2017 के आदेश के आलोक में चुनाव आयोग को एक पत्र लिखा था.  जिसमें जून 2017 के आदेश पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया गया था. इसके बाद चुनाव आयोग का रिमाइंडर राज्य सरकार को मिलने के बाद यह माना जा रहा है कि आयोग ने राज्य सरकार के आग्रह को मानने से इंकार कर दिया है. गौरतलब है कि चुनाव आयोग का आदेश आने के बाद सरकार ने मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार का पद समाप्त कर दिया था. मुख्यमंत्री के प्रेस सलाहकार योगेश किशलय को हटा कर उनके स्थान पर अजय कुमार को प्रेस सलाहकार बनाया था.

eci

यह पूरा मामला वर्ष 2016 में हुए राज्य सभा चुनाव का है. एडीजी और अजय कुमार पर आरोप लगा था कि उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी के पक्ष में मतदान करने के लिए कांग्रेस के विधायक निर्मला देवी को पैसे का लालच दिया. साथ ही धमकी भी दी. राज्यसभा चुनाव के बाद झारखंड विकास मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बाबू लाल मरांडी ने एक कांफ्रेंस करके आॉडियो व वीडियो सीडी जारी किया था. वीडियो सीडी, जो अब यू-ट्यूब पर भी उपलब्ध है, उसमें मुख्यमंत्री रघुवर दास भी दिखते हैं. वह विधायक निर्मला देवी के पति योगेंद्र साव से बात कर रहे हैं. इस तरह इस मामले में कार्रवाई होने पर आगे चल कर मुख्यमंत्री रघुवर दास भी फंस सकते हैं. झारखंड विकास मोरचा की शिकायत पर चुनाव आयोग की टीम ने मामले की जांच की थी. जांच में आरोप सही पाये जाने के बाद आयोग ने जून 2017 में एडीजी और राजनीतिक सलाहाकर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया था. 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: