न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चतरा : बगैर अनुमोदन डीटीओ कार्यालय में जमे दो लोगों की हुई छुट्टी

30

NEWSWING

Chatra, 11 December : जिला परिवहन कार्यालय में लंबे समय से बिना अनुमोदन कार्य कर रहे दो लोगों पर गाज गिरी है. डीटीओ आशुतोष कुमार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए जहां रवि सिन्हा व रविंद्र कुमार नामक दो शख्स कि कार्यालय से छुट्टी कर दी. वहीं डीटीओ कार्यालय में प्रवेश पर भी रोक लगा दिया. सूत्रों के अनुसार उक्त दोनों व्यक्ति बगैर विभागीय अनुमोदन के डीटीओ कार्यालय में पिछले कई वर्षों से गैरकानूनी तरीके से कार्य कर रहे थे.

उक्त दोनों कर्मियों के अनुमोदन की फाइल राज्य परिवहन कार्यालय को भेजी गयी थी. लेकिन अनुमोदन अभी तक नहीं हुआ. बावजूद वे दोनों लगातार कार्यालय में जमे हुए थे. इतना ही नहीं दोनों व्यक्तियों के द्वारा कार्यालय के गोपनीय कार्यो में भी हस्तक्षेप किया जा रहा था. बताया जाता है कि उक्त कर्मियों के नियुक्ति संबंधी अनुमोदन लंबित होने की शिकायत जिला परिवहन पदाधिकारी को मिली थी. सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुए डीटीओ ने दोनों कर्मियों की नियुक्ति संबंधी फाइल मंगवाकर मामले की जांच की. जांच में आरोप सही पाया गया. जिसके बाद डीटीओ ने बड़ी कार्रवाई करते हुए दोनों की कार्यालय से छुट्टी कर दी.

इसे भी पढ़ें : संथाल के लिए जहर है कि प्यार है तेरा चुम्मा, बीजेपी ने पूछा जेएमएम से

कौन है आरोपी शख्स

बगैर विभागीय अनुमोदन कार्य कर रहे रवि सिन्हा व रविंद्र कुमार कार्यालय में चतुर्थवर्गीय कर्मचारी के पद पर कार्य कर रहे थे. रविंद्र कुमार तो चपरासी का काम करता था लेकिन रवि सिन्हा विभाग में चतुर्थ वर्गीय कर्मचारी होने के बावजूद किंग मेकर की भूमिका में कार्य कर रहा था. वाहन संचालकों व कार्यालय से संबंध रखने वाले लोगों की माने तो रवि सिन्हा के बगैर डीटीओ कार्यालय में पत्ता भी नहीं हिलता था. आशुतोष कुमार से पूर्व अब तक के सभी डीटीओ रवि सिन्हा से कानून को ताक पर रख कर काम ले रहे थे.

कार्रवाई से वाहन संचालकों ने ली राहत की सांस

रवि सिन्हा पर डीटीओ की कार्यवाही से जिले के वाहन संचालकों में खुशी का माहौल है. वाहन संचालकों ने रवि सिन्हा पर कार्रवाई के लिए डीटीओ को बधाई दी है. वाहन संचालकों का कहना है कि रवि सिन्हा द्वारा आए दिन वाहन संचालकों व मालिकों को परेशान किया जाता था. कभी चेकिंग तो कभी परमिट के नाम पर उनसे अवैध वसूली की जाती थी. रवि सिन्हा के कार्यालय से छुट्टी होने के बाद अब उन्हें भयादोहन का शिकार नहीं होना पड़ेगा.

इसे भी पढ़ें : केस दर्ज करने से बचती है रांची के कई थानों की पुलिस, पैरवी के बाद दर्ज होता है मामला

क्या कहते हैं डीटीओ

जिला परिवहन पदाधिकारी का पदभार ग्रहण किए हुए मुझे कुछ दिन ही हुए हैं. कुछ वाहन मालिकों व विश्वस्त सूत्रों द्वारा यह लगातार शिकायत मिल रही थी. कार्यालय में दो कर्मी रवि सिन्हा व रविंद्र कुमार बगैर विभागीय अनुमोदन के जमे हुए हैं. मामले की जांच करने पर आरोप सही पाया गया जिसके बाद दोनों पर कार्रवाई की गई है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: