न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

घबराई भाजपा मतदाताओं के ध्रुवीकरण के लिए चल रही है सांप्रदायिक कार्ड : जिग्नेश मेवानी

8

News Wing
Vadgam, 12 December :
दलित नेता जिग्नेश मेवानी ने सोमवार को कहा कि हार के डर से भाजपा विकास का झूठा दिखावा बंद करने को मजबूर होकर मतदाताओं के ध्रुवीकरण के लिए सांप्रदायिक कार्ड चल रही है. मेवानी उत्तरी गुजरात के वडगाम से कांग्रेस के समर्थन से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर किस्मत आजमा रहे हैं जहां 14 दिसंबर को मतदान होना है.

क्या एसडीपीआई का किसी आतंकी संगठन या जिहादी समूह से कोई लेनादेना है

उन्होंने पीटीआई को दिये इंटरव्यू में कहा कि सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया से 50 हजार रुपये का चैक लेने पर भाजपा सांप्रदायिक आधार पर उन पर निशाना साध रही है. लेकिन पार्टी को अपने अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह की दौलत में बेतहाशा वृद्धि की वजह बतानी चाहिए. मेवानी ने कहा कि क्या एसडीपीआई का किसी आतंकी संगठन या जिहादी समूह से कोई लेनादेना है, तो फिर क्यों अमित शाह, राजनाथ सिंह या नरेंद्र मोदी इतने साल तक चुप रहे? उन्होंने मुझे 50 हजार रुपये का चैक दिया. क्या इस पर सवाल उठना चाहिए या जय शाह की कमाई में 16 हजार गुना बढ़ोतरी पर?’’

यह भी पढ़ें: पाक विवाद पर मनमोहन सिंह का पलटवार, कहा- माफी मांगे मोदी

2014 में भाजपा के सत्ता में आने के बाद अमित शाह के बेटे की कंपनी में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई

मेवानी 2014 में भाजपा के सत्ता में आने के बाद अमित शाह के बेटे जय शाह की एक कंपनी के मुनाफे में बेतहाशा बढ़ोतरी के आरोपों का जिक्र कर रहे थे. भाजपा और अमित शाह के बेटे जय ने इस खबर को गलत और अपमानजनक बताते हुए खारिज कर दिया था. 35 साल के मेवानी ने कहा कि भाजपा उन्हें निशाना बना रही है क्योंकि चुनाव में उसका कोई एजेंडा नहीं है.

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान ने भारत से कहा, अपनी घरेलू राजनीति में हमें ना घसीटें

गुजरात की जनता जानती है कि जिग्नेश मेवानी निष्कलंक ईमानदारी वाला व्यक्ति है

उन्होंने कहा कि इस तरह की चाल काम नहीं करेंगी. गुजरात की जनता जानती है कि जिग्नेश मेवानी निष्कलंक ईमानदारी वाला व्यक्ति है. मेवानी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, मुख्यमंत्री विजय रूपानी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को उनके खिलाफ प्रचार में उताकर भाजपा अपनी घबराहट दिखा रही है.

मुझे जीत का भरोसा है

उन्होंने कहा कि मुझे जीत का भरोसा है. गुजरात में विकास का मुद्दा पीछे चला गया है क्योंकि सत्तारूढ़ भाजपा अंतिम उपाय के रूप में सांप्रदायिक कार्ड का इस्तेमाल कर रही है. यह अब अपना वास्तविक रंग दिखा रही है. महीनों तक वे विकास की बात करेंगे लेकिन आखिरी दौर में मतदाताओं का ध्रुवीकरण करेंगे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: