न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गढ़वा: प्री बजट संगोष्ठी में शामिल हुए सीएम, कहा – पलामू प्रमंडल के विकास के लिए बनेगा स्पेशल बजट

20

NEWS WING

Daltonganj, 6 December : गढ़वा जिले में बुधवार को प्रमंडल स्तर का बजट पूर्व संगोष्ठी का आयोजन किया गया. इसमें गढ़वा के अलावा पलामू और लातेहार जिले से व्यवसायी,किसान,शिक्षाविद् और युवाओं ने अपनी भागीदारी सुनिश्चित की. इसके साथ ही इलाके की समस्याओं को दूर करने के लिए उसे बजट में शामिल करने का सुझाव भी दिया. कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भाग लिया. इस मौके पर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रामचन्द्र चन्द्रवंशी भी मौजूद थे. इस कार्यक्रम में सभी संगठनों से सुझाव सुनने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि 70 वर्ष की आजादी के बाद भी जो इनपुट आने चाहिए थे, वह नहीं आये.

यह भी पढ़ें – देश में सबसे ज्यादा प्रदूषण फैलाने वाले पावर प्लांट में से एक है टीटीपीएस, केंद्रीय प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने उत्पादन बंद करने का दिया निर्देश
 
कांग्रेस ने राज्य ही नहीं देश को भी बर्बाद किया – रघुवर दास
 इसके साथ ही सीएम ने कहा कि बजट विकास का आईना होता है. हमारी जनता क्या सोचती है,इसपर ही आधारित बजट बने इसलिये 3 साल से ये प्री बजट कार्यक्रम हम करते हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि पलामू प्रमंडल के अपेक्षित विकास के लिए स्पेशल बजट बनाया जायेगा. प्रमंडल के तीनों जिले गढ़वा, लातेहार व पलामू जिला बिचैलियों के जाल से त्रस्त हैं और अब बिचैलियागिरी का खात्मा करने के लिए कड़ी कार्रवाई की जाएगी. सीएम ने अपनी बातों में स्पष्ट रूप से कहा कि झारखंड का आज तक शोषण होता रहा है. हमारी सरकार शोषण मुक्त झारखंड बनाने के लिए दृढसंकल्प है और सभी बुराइयों की जड़ अशिक्षा है. शिक्षा प्रसार के लिए प्रभारी कदम उठाए गए हैं. पूरा पलामू प्रमंडल सुखाड़ का दंश झेल रहा है. लेकिन अब सिंचाई के कई साधन उपलब्ध कराए जा रहे हैं. वहीं विद्यालयों को हर सुविधा दी जा रही है. सीएम ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि इस राज्य को ही नहीं बल्कि पूरे देश को कांग्रेस ने बर्बाद किया है.इसलिए झारखंड के चैमुखी विकास के लिए दस वर्ष के लिए स्थायी सरकार चाहिए.

यह भी पढ़ें – बकोरिया कांडः हाई कोर्ट के आदेश पर हेमंत टोप्पो व दारोगा हरीश पाठक का बयान दर्ज

गढ़वा, लातेहार और पलामू जिले के मामले में सुझाव रखे गये

गढ़वा के ग्रामीण इलाकों में सेनेटरी नैपकिन बनाने के लिए एक उद्योग स्थापित की जाए, स्वयं सहायता समूह को मिले काम. सूखा प्रभावित जिला होने के कारण यहां सिचाई के लिए वृहद योजना बनायी जाए. महाविद्यालयों में वाई – फाई की व्यवस्था और पुलिस पिकेट की स्थापना की जाए. ग्रामीण क्षेत्रों में पुस्तकालय सह वाचनालय की स्थापना की जाए. लातेहार जिले में पर्यटन को बढ़ावा दिया जाए, पतरातू घाटी की तरह नेतरहाट की जंगली घाटी को भी विकसित कर पर्यटन को बढ़ावा दिया जाना जरूरी है. गांव को स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से मजबूत किया जाए, गांव मलेरिया से जूझ रहा है और गांव के स्वास्थ्य केंद्रों को सुसज्जित कर वहां मलेरिया जांच की व्यवस्था की जाए. लातेहार के तातापानी को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाए. इसके साथ ही लोगों के द्वारा मांग की गयी कि पलामू जिले में उद्योग की स्थापना की जाए. डालटनगंज शहर में वर्षों से लंबित खासमहाल लीज नवीकरण के मामले को हल किया जाए. चैनपुर में बंद पड़े कई खादान को पुनः चालू किया जाए और रोजगार के अवसर सृजत किया जाए. अमानत नदी पर बनकर तैयार बराज को चालू किया जाए, ताकि सिंचाई के साधन विकसित हो सके और डालटनगंज शहर की यातायात व्यवस्था सुदृढ़ करने के व्यापक प्रबंध किए गए.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: