न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गुजरात, हिमाचल में बीजेपी की जीत पर बोले हेमंत – जल्दी ही यह टाइटेनिक की नांव डूब जायेगी

27

Ranchi : गुजरात और हिमाचल प्रदेश में बीजेपी की जीत पर आज झारखंड मुक्ति मोर्चा की ओर से प्रेस कांफ्रेंस किया गया. इस क्रांफेंस में हेमंत सोरेन ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा और साथ ही यह भी कहा कि सरकार चाहे बीजेपी की बन गयी हो लेकिन जेश से जल्दी ही इनका नामोनिशान मिट जायेगा.      

देखें वीडियो किसने क्या कहा

 हेमंत सोरेन – इस विषय पर मुझे यही कहना है जो चुनाव के पहले और चुनाव के बाद भी मैंने आप लोगों से कहा है कि, अगर वहां बीजेपी सरकार फिर से बनती है तो वहां कितनी मुसीबतों को झेलते हुए मतलब कि नाक से पानी पी-पीकर सरकार बनाने जा रहे हैं. चुनाव का आंकड़ा अगर देखें तो ऐसा नहीं है कि 150 का आंकड़ा उन्हें मिला है और किसी तरह से ये सरकार बना पा रहे हैं. वहीं मोदी का जादू कम हो रहा है, इस सवाल पर हेमंत ने कहा कि अब इनलोगों की हर चीज परत दर परत राज्य और जनता के समक्ष आ रही है. साथ ही हेमंत ने कहा कि यह तो शुरूआत है और जल्दी ही यह टाइटेनिक की नांव डूबने जा रही है, जिसका नामोनिशान भी इस देश में नहीं रहेगा.

सुप्रियो भट्टाचार्य (महासचिव, JMM)  यो तो एक्सपेक्टेड ही था, क्योंकि जिस तरह से गुजरात चुनाव के दूसरे चरण में पीएम नरेंद्र मोदी ने अपनी गरिमा को ताक पर रखकर और अपने मूल मुद्दे से हटकर पाकिस्तान के मुद्दे को ले आये और सीधे-सीधे हिंदु और मुसलमान को बांटने का काम किया है. यह एक दुखद पहलू है और इसी दुखद पहलू के साथ वहां के नतीजे आये हैं. हमलोग यदि देखेंगे कि लोकसभा में 165 सीट आगे थे और विधानसभों में भी 2014 में आगे थे. वहीं उस जगह पर यदि 100 या 100 से तुरंत उपर यदि पहुंच पा रहे हैं तो यह सरकार की नाकामी है. साथ ही उन्होंने कहा कि इन जगहों पर नरेंद्र मोदी सरकार जरूर बना लें , लेकिन मोदी चुनाव हार चुके हैं.

मनोज पांडे (केंद्रीय प्रवक्ता,JMM) एक्डिट पोल के नतीजे देखें या जो दावे किये जा रहे थे भाजपा नेताओं के द्वारा तो उससे बहुत ज्यादा निराशाजनक प्रदर्शन बीजेपी का मैं मानता हूं. हमें उम्मीद थी कि कांग्रेस आयेगा सत्ता में , लेकिन एक कड़ा टक्कर देखने को मिली है. लेकिन एक बात साबित हो गया है कि गुदरात मॉडल जिसकी बात किया करते थे बीजेपी के नेता खासकर नरेंद्र मोदी तो गुजरात मॉडल गुजरात में ही ध्वस्त हो गया. किसी तरह बहुमत के पार पहुंचे हैं और जो उनका दावा था 150 सीट का उससे 40 सीटें कम ही मिलीं और इन्हें कितनी मशक्कत करनी पड़ी  ये भी किसी से छुपा नहीं है. कियोंकि पीएम नरेंद्र मोदी ने 36 रैलियों को संबोधित किया और आजतक उन्होंने किसी भी राज्य इतनी रैलियां नहीं की हैं.       

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: