न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गीता को नहीं मिले उसके माता-पिता, डीएनए टेस्ट का लिया जाएगा सहारा

15

News Wing
New Delhi, 11 December:
दो साल पहले पाकिस्तान से भारत लौटी मूक-बधिर गीता के परिजनों को खोजने की गुत्थी को अभी तक सरकार सुलझा नहीं पाई है. महाराष्ट्र, बिहार और झारखंड के तीन दंपत्तियों ने गीता के माता पिता होने का दावा किया है. तीनों परिवारों को आज सोमवार को गीता से मिलाया जाएगा और जरूरत पड़ने पर पहचान के लिए डीएनए टेस्ट का भी सहारा लिया जा सकता है. ज्ञात हो कि अबतक देश के अलग-अलग जगहों से 10 परिवारों ने गीता को अपनी लापता बेटी बता चुके हैं. लेकिन सरकार की जांच में इनमें से किसी भी परिवार का दावा फिलहाल साबित नहीं हो सका है.

इसे भी पढ़ें- ठेका में भ्रष्टाचार मामले में निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता पर एफआईआर दर्ज

तीन परिवारों ने कहा कि गीता उनकी खोयी हुआ बेटी

बिहार के सारण जिले के मिर्जापुर गांव निवासी मोहम्मद ईसा और उनकी पत्नी जुलेखा खातून को गीता से 11 दिसंबर को मिलवाया जाएगा. यह बात मध्य प्रदेश के सामाजिक न्याय विभाग के संयुक्त संचालक बीसी जैन ने बताया. उन्होंने यह भी बताया कि महाराष्ट्र के अहमद नगर जिले के जयसिंह कराभरी इथापे और झारखंड के जामताड़ा जिले के सोखा किशकू के परिवारों से इसी तारीख को मिलवाने का कार्यक्रम पहले से तय है. इन दोनों परिवारों का भी दावा है कि ये लड़की कोई और नहीं, बल्कि उनकी खोयी बेटी है. साथ ही तीनो परिवारों के डीएनए नमूने लिए जाएंगे. डीएनए नमूने से मिलान के लिए सीबीआई की नई दिल्ली स्थित केंद्रीय अपराध विज्ञान प्रयोगशाला (सीएफएसएल) भेजा जा सकता है.

इसे भी पढ़ें- गिरिडीह: नर्सिंग होम में उड़ाई जा रही थी नियमों की धज्जियां, एसडीओ ने की कार्रवाई, पांच क्लिनिक सील

क्या है पूरा मामला

गीता गलती से सीमा लांघने की वजह से दशक भर पहले पाकिस्तान पहुंच गई थी. जिसके बाद भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के प्रयासों के बाद गीता 26 अक्तूबर 2015 को भारत लौटी थी. इसके अगले ही दिन उसे इंदौर में मूक-बधिरों के लिए चलाई जा रही गैर सरकारी संस्था के आवासीय परिसर भेज दिया गया था. तब से वह इसी परिसर में रह रही है. सुषमा स्वराज ने एक अक्तूबर को प्रसारित वीडियो संदेश में देशवासियों से अपील की थी कि वे गीता के माता-पिता की तलाश करने में सभी सरकार की मदद करें. जो भी युवती को उसके बिछुड़े माता-पिता से मिलवाने में मदद करेगा उसे सरकार की ओर से एक लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: