न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

गिरिडीह : वैक्सीन लगने के बाद तबियत बिगड़ने से डेढ़ माह के शिशु की मौत, परिजनों ने दर्ज कराया मामला

19

News Wing

eidbanner

Giridih,9 December : जिले के निमियाघाट थाना क्षेत्र के टिंगरखुर्द निवासी किशोर महतो के डेढ़ माह के बच्चे की पोलियो वैक्सीन(एफ.आई.पी.वी.one इंजेक्शन) के अलावा बीसीजी का टीका लगाया गया था. लेकिन वैक्सीन लगने के कुछ घंटे बाद ही बच्चे की मौत हो गयी. इस मामले में परिजनों ने निमियाघाट थाना में मामला दर्ज कराया है. पुलिस ने बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा है.

इसे भी पढ़ें – झारखंड में स्वास्थ्य, कुपोषण, शिक्षा की स्थिति बदतर, पिछड़े 115 जिलों में झारखंड के 19 जिले शामिल: नीति आयोग

सुई लगने के बाद ही बच्चे की तबियत बिगड़ने लगी 

इस घटना के बारे बताया जा रहा है बच्चे की मां किरण देवी ने शुक्रवार को अपने डेढ़ माह के बेटे छत्रधारी महतो को बीसीजी तथा पोलियो की सुई दिलाया और घर लौट गयी. लेकिन घर लौटने के बाद से ही बच्चे की तबीयत बिगड़ने लगी. उस वक्त घर में कोई मौजूद नहीं था तो शाम के वक्त किरण बच्चे को लेकर शाम में ही डुमरी रेफरल अस्पताल पहुंची, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. इस घटना से आहत परिजनों ने इसे स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही बताया और निमियाघाट थाने में आवेदन देकर रेफरल अस्पताल प्रभारी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की है. 

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

सुई से मौत को प्रभारी चिकित्सक ने नकारा 

दूसरी ओर बच्चे की मौत पर प्रभारी चिकित्सक अजय कुमार सिन्हा ने बताया कि किसी भी सुई का इंफेक्शन तत्काल होता है. लेकिन सुई लगने के आठ घंटे बाद इसका असर नहीं होता. फिर भी बच्चे की मौत किन कारणों से हुई है, इसकी जांच के लिए शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा गया है. जब रिपोर्ट आयेगी तो ही पता लग पायेगा कि मौत की वजह क्या रही. साथ ही उन्होंने कहा कि हरेक बच्चे की तरह उस बच्चे को भी बीसीजी, पोलियो, पेंटा वनने ड्रॉप, एफ आई पी वी one इंजेक्शन दिया गया था और ये सभी जीवन रक्षक और रोग प्रतिरोधक सुई हैं, इससे मौत होना असम्भव है.

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: