न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गिरिडीह : बेल पर रिहा पूजा मंडल फिर गिरफ्तार, दलित उत्पीड़न, सेक्स रैकेट चलाने समेत कई आरोप

103

News Wing Giridih 08 December: गिरिडीह में सेक्स रैकेट चलाने के मामले में जेल जा चुकी पूजा मंडल एक बार फिर पुलिस गिरफ्त में आ गयी है. बता दें कि पूजा मंडल हमेशा से ही विवादों में घिरी रही है और किसी न किसी मामले में सुर्खियां बटोरने का काम करती रही है. पुलिस को बीते एक माह से पूजा मंडल की तलाश थी, और आखिरकार शुक्रवार को वह पुलिस के हत्थे चढ़ ही गयी. पूजा मंडल को एससी एक्ट के एक मामले में गिरफ्तार किया गया है.  प्राप्त जानकारी के अनुसार पूजा मंडल बरगंडा स्थित एक किराए के मकान में रहती थी. वहीं पड़ोस में रहने वाले एक परिवार ने उस पर हरिजन अत्याचार का मामला दर्ज कराया था. वहीं पूजा मंडल पर एक सरकारी कर्मी को दिग्भ्रमित करने और आत्महत्या के प्रयास का मामला भी दर्ज था. 

इसे भी पढ़ेंः दारू-दारू हुई झारखंड की राजनीति- जेएमएम विधायकों को खुलवानी है अपने घर में शराब दुकान तो लिस्ट बना कर दें: बीजेपी, 12 दिसंबर को बियर लेकर जाऊंगा विधानसभा, सीएम को करूंगा गिफ्टः जेएमएम

सेक्स रैकेट चलाने के आरोप में पहले भी जा चुकी है जेल

गौरतलब है कि लगभग एक साल पहले पूजा मंडल सेक्स रैकेट चलाने के आरोप में जेल जा चुकी है और तीन महीने बाद बेल पर रिहा हुई थी, रिहाई के बाद जिस मकान में पूजा मंडल रह रही थी उसके मकान मालिक द्वारा भी उस पर पर एसडीओ कोर्ट में मुकदमा दर्ज कराया गया है. पड़ोसी से झगड़ा करने के बाद जब पुलिस पुलिस पूजा मंडल को तलाशने लगी तो वह बरगंडा से फरार हो गयी और मुफ्फसिल क्षेत्र के चुंजका में कमल किशोर तुरी के मकान में रहने लगी. इस बात की भनक जब पुलिस को लगी तो पुलिस ने चुंजका में छापा मार कर उसे गिरफ्तार कर लिया.

यह भी पढ़ेंः पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी ने तोड़ी भाषा की मर्यादा, मुख्यमंत्री रघुवर दास को कहा ‘नशेड़ी’

गिरफ्तारी के बाद पूजा मंडल ने की ड्रामेबाजी

गिरफ्तारी के बाद पूजा मंडल ने हाई वोल्टेज ड्रामा भी किया. इस दौरान उसने नारेबाजी की ओर पुलिस प्रशासन एवं मीडिया कर्मियों को गालियां दी. वह खुद को निर्दोष बताते हुए साज़िश के तहत फंसाने की बात कह रही थी. हालांकि उसके ड्रामे का पुलिस पर कोई असर नहीं हुआ और पुलिस ने सदर अस्पताल में उसका मेडिकल जांच कराने के बाद कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: