न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गिरिडीह : नगर पर्षद की कार्यशैली से उपाध्यक्ष नाराज, कहा- प्रोटोकॉल की उड़ाई जा रही धज्जियां

30

NEWSWING

Giridih, 07 December : गिरिडीह नगर पर्षद उपाध्यक्ष राकेश मोदी इन दिनों नगर पर्षद से नाराज़ चल रहे है. गुरुवार को उपाध्यक्ष ने प्रेस वार्ता कर जानकारी देते हुए नगर पर्षद के किर्याकलापों पर सवालों की बौछार कर दी. वहीं कई गंभीर आरोप भी लगाएं.

ठगने का किया जा रहा काम

उन्होंने कहा कि वो पिछले दो माह पूर्व लगाये गए रोजगार मेले का एनयूएलएम से पदाधिकारियों के कितनों को रोजगार दिया गया इसकी लिस्ट मांगी तो उन्हें एक फेक सूची उपलब्ध करवा दी गई. उस सूची में ना तो प्लेसमेंट कर्ता का मोबाइल नंबर है और ना ही प्लेसमेंट वाली कंपनी का पता. कहा कि इससे स्पष्ट जाहिर होता है कि उन्हें दी गयी सूची फेक है. वहीं बुधवार को लगे लोन मेला पर उन्होंने कहा कि जब 2 महीने से रोजगार मेले की प्लेसमेंट की सूची नहीं मिल रही तो बुधवार को लगा लोन मेला का क्या औचित्य है. क्या लोगों को लोन मिलेगा. कहा कि मेरी नज़र में एनयूएलएम पदाधिकारी ठगने का कार्य कर रहे हैं. कहा कि पिछले 4 साल में कितने लोगों ने बैंक लोन अप्लाई किया और कितने लोगों को लोन मिला उसकी सूची उपलब्ध नहीं करवाई जा रही है.

यह भी पढ़ें : कौन लेता है जेएमएम के बड़े फैसले, आखिर किसके कब्जे में हैं कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन?

कम्बल  वितरण पर भी उठाया सवाल

उन्होंने कहा कि 4 से 5 हजार कम्बल उपलब्ध कराई गई थी. सभी वार्डो में 90-90 कम्बल वितरण के लिए दिये गये लेकिन एक सप्ताह से कार्यपालक पदाधिकारी को अवगत कराने के बाद भी उन्हें कम्बल नहीं उपलब्ध कराई गई. अंत में उन्होंने खुद के फंड से 4 दिन पूर्व 60 कम्बलों का वितरण अपने वार्ड में किया. वहीं गुरुवार को 100 कम्बलों का वितरण उन्होंने किया है. बताया कि वे नगर पर्षद पर आश्रित नहीं है. जिन गरीबों को जरूरत हो उन्हें वे खुद से कम्बल उपलब्ध कराएंगे.

silk_park

यह भी पढ़ें : पलामू : बिचौलियों ने 381 किसानों के नाम पर निकाल लिये लाखों के ऋण

10 दिनों से नहीं मिल रही फ़ाइल

नाराज उपाध्यक्ष ने कहा कि बहुत सी योजनाओं की फ़ाइल 10 दिन से देखने समझने को मांग रहे हैं लेकिन फ़ाइल उपलब्ध नहीं कराई जा रही है. मामले से उन्होंने चैयरमेन को अवगत करवा दिया है.

गड़बड़ी के कारण नहीं दी जा रही फ़ाइल

फ़ाइल नहीं दिए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि शायद फ़ाइल में गड़बड़ी हो इसलिए फ़ाइल नहीं दी जा रही. इस बाबत सरकार को चिट्ठी लिख चुके हैं. तमाम नियमों की धज़्ज़िया उड़ायी जा रही है. कहा कि इन्ही सभी कारणों से वो नगर पर्षद के किसी कार्यक्रम में शामिल नहीं हो रहे हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: