न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गिना हसपेल की नियुक्ति को लेकर संशय में हैं अमेरिकी सांसद

15

Washington : सीआईए प्रमुख के तौर पर गिना हसपेल की नियुक्ति के बारे में अमेरिकी राष्ट्रपति की घोषणा के साथ सीआईए में गिना के शानदार कॅरियर में अब नया आयाम जुड़ने जा रहा हैं. डोनाल्डट्रंप ने घोषणा किया था कि गिना अमेरिकी इतिहास में पहली महिला सीआईए प्रमुख होंगी.

गिना हसपेल बन सकती अमेरिकी केंद्रीय खुफिया एजेंसी की नेतृत्व करने वाली पहली महिला

राष्ट्रपति ट्रंप ने सभी को चौंकाते हुए विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन को हटाने, उनकी जगह सीआईए निदेशक माइक पोम्पेओ को नियुक्त करने तथा गिना को पदोन्नत करने की घोषणा की. पोम्पेओ की जगह गिना हसपेल(61) की नियुक्ति पर मुहर के लिये सीनेट में मतदान होगा. अगर सीनेटउन की नियुक्ति पर अपनी मुहर लगा देता है तो वह अमेरिकी केंद्रीय खुफिया एजेंसी का नेतृत्व करने वाली पहली महिला होंगी.

इसे भी पढ़ें: वार्ड दो में भट्ठा टोला की सड़क बनी हुई है गटर, पानी की समस्या से हैं लोग परेशान

बहुत शानदार महिला हैं गिना हसपेल

हालांकि सीनेट के प्रभावशाली सांसदों ने संकेत दिया कि वे उनकी नियुक्ति पर अपनी सहमति नहीं देने वाले हैं. बल्कि वे यातना कार्यक्रम मेंगिना की भूमिका को लेकर उन्हें घेरने की तैयारी में हैं. ट्रंप ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं को बताया कि गिना को मैं बहुत अच्छे से जानता हूं. मैंने उनके साथ बहुत करीब से काम किया है. वह सीआईए की पहली महिला निदेशक होंगी. वह बहुत शानदार महिला हैं, जिनसे मैं भली भांति परिचित हूं.’’

इसे भी पढ़ें: रांची : वार्ड नंबर एक के चंदवे बस्ती में सड़क-बिजली ठप, स्थानीय लोगों ने कहा – “नहीं हुआ है इधर विकास”

कई स्थानों में चीफ ऑफ स्टेशन के तौर पर काम कर चुकी है गिना हसपेल

राष्ट्रीय खुफिया विभाग के निदेशक डेनियल कोट्स ने कहा किट्रंप ने सीआईए की अगली निदेशक के तौर पर गिना की नियुक्ति की अपनी घोषणा से अपना मजबूत पसंद जाहिर किया है. गिना वर्ष 1985 में सीआईए में शामिल हुयी थीं. उन्हें विदेशों में कार्य का व्यापक अनुभव रहा है और उन्होंने कई स्थानों में चीफ ऑफ स्टेशन के तौर पर भी काम किया है. आतंकवाद निरोध के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्यों के लिये उन्होंने जॉर्ज एच डब्ल्यूबुश पुरस्कार और इंटेलिजेंस मेडल ऑफ मेरिट पुरस्कार भीदिया गया है.

इसे भी पढ़ें: पलामू: कठौतिया कोल माइंस से कोयला लेकर निकल रहे वाहनों पर फायरिंग और बमबारी

संदिग्ध आतंकवादियों की गिरफ्तारी एवं पूछताछ की भी निगरानी कर चुकी है गिना हसपेल

वॉल स्ट्रीटपत्रिका के अनुसार वह सीआईए की उस टीम का भी हिस्सा थीं जो संदिग्ध आतंकवादियों की गिरफ्तारी एवं पूछताछ की निगरानी करती थी. सीनेट की प्रभावशाली सशस्त्र सेवा समिति के अध्यक्ष एवं रिपब्लिकनसांसद जॉनमकेन ने कहा कि बीते दशक के दौरान अमेरिका के कैद में रहे आरोपियों को दी गयी यातना देश के इतिहास में सर्वाधिक काला अध्याय रहा है. इसी तरह से कई और सांसदों ने भी गिना हसपेल की नियुक्ति पर अपने विरोध प्रकट किया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: