न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गढ़वा: घर में नहीं था अनाज, महिला की हुई मौत

12

News Wing

Garhwa, 02 DEcember: गढ़वा के डंडा प्रखंड स्थित कोरटा गांव में महिला प्रेमनी कुंवर की मौत हो गयी. वह घर में अकेली थी. प्रेमनी का बेटा उत्तम महतो उससे अलग रहता था. उत्तम ने बताया, उसकी मां के पास अनाज नहीं था. आठ दिनों से चूल्हा नहीं जला. भूख से उसकी मौत हो गयी.

इसे भी पढ़ें- भूख से ही हुई संतोषी की मौत, पूरा परिवार कुपोषण का शिकार, सिमडेगा डीसी को निलंबित करने की मांग

डंडा प्रखंड प्रमुख वीरेंद्र चौधरी ने भी दावा किया है कि प्रेमनी की मौत भूख से हुई है. सूचना मिलने के बाद प्रशासन के अधिकारी जिला मुख्यालय से करीब 35 किमी दूर प्रेमनी के घर पहुंचे. उसके शव को गढ़वा सदर अस्पताल लाया गया, जहां पोस्टमार्टम हुआ. जिला प्रशासन का कहना है कि जांच के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा कि प्रेमनी की मौत की क्या वजह थी. 

इसे भी पढ़ें- जमीन के दस्तावेज देखे बिना सरकार ने दिया अमेटी को यूनिवर्सिटी का दर्जा, प्रबंधन और अधिकारी कुछ भी बताने को तैयार नहीं

क्या कहते हैं बीडीओ

बीडीओ परवेज शहजाद बताते हैं कि प्रेमनी को अंत्योदय योजना के तहत अक्टूबर का राशन मिला था. वहीं नवंबर तक उसे वृद्धा पेंशन भी मिला. उसके खाते में कुछ 2400 रुपए जमा हैं. बीडीओ ने बताया कि मृतका के घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है. वह बीमार थी और ग्रामीणों ने डॉक्टर से इलाज भी करवाया था. तंगहाली और आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण उसका समुचित इलाज नहीं हो सका. उससे उसकी मौत हो गई. बीडीओ ने बताया कि ग्रामीणों ने भूख से मौत की आशंका जता पोस्टमार्टम की मांग की है. पोस्टमार्टम कराया जाएगा. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है.

इसे भी पढ़ें- स्वास्थ्य मंत्री ने 23 नवंबर को दिया आयुष अनुबंध परीक्षा की जांच का आदेश, 30 नवंबर को विभाग ने कर दी पोस्टिंग

पीडीएस दुकानदार ने की गड़बड़ी

सरकारी दस्तावेज के अनुसार 28 अक्टूबर को उसे राशन मिला था. प्रेमन को नवंबर का राशन नहीं मिला है. उसके बाद भी उसके राशन उठाव की बात दुकानदार की ओर से कही जा रही है. उधर बीडीओ ने बताया कि दो दिन पहले वह राशन लेने गई थी, पर नहीं मिला. उसका ठेपा ले लिया गया था. उसी आधार पर 29 नवंबर को उसका राशन उठाव दिखा दिया गया. वहीं मृतका के राशन कार्ड पर 27 नवंबर को राशन उठाव दर्शाया गया है. बीडीओ ने कहा कि पीडीएस दुकानदार ने गड़बड़ी की है. गोदाम से राशन का उठाव जब 28 नवंबर को हुआ तो दुकानदार ने 27 नवंबर को राशन कैसे बांट दिया. बीडीओ ने कहा कि पूरे मामले की जांच की जाएगी. जांच के बाद पीडीएस दुकानदार पर कार्रवाई होगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: