न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

खूंटी गोली कांडः बिरसा ने पहले कहा कुछ लोग घर के बाहर बुला रहे थे, फिर कहा भाई राम मुंडा को बचाने में घायल हुआ (देखें वीडियो)

107

NEWSWING

Ranchi, 02 December : पीएलएफआई के उग्रवादियों ने खूंटी के भाजपा नेता भैया राम मुंडा की गोली मारकर हत्या कर दी. वहीं भैया राम मुंडा की पत्नी, चचेरे भाई बिरसा मुंडा और बिरसा मुंडा की मां को भी गोली लगी है. रिम्स में इलाज करा रहे राम मुंडा के भाई बिरसा मुंडा ने घटना के बारे में विस्तार से बताया. बिरसा ने बताया कि शुक्रवार की रात करीब 11.30 बजे घर के बाहर से कुछ लोग उसे आवाज देकर बाहर बुला रहे थे. रात काफी हो चुकी थी और किसी अनहोनी की आशंका से घर के लोगों ने उसे बाहर निकलने से मना किया. इसी दौरान उसने बड़े भाई राम मुंडा को उनके घर पर फोन किया. राम ने बताया कि उसे पहले से ही कुछ लोगों ने उन्हें घेर रखा है. साथ ही बिरसा ने बताया कि अपने बड़े भाई राम मुंडा को उग्रवादियों से बचाने के क्रम में उसे गोली लगी और वह जख्मी हो गया. बता दें कि पीएलएफआई के इस हमले में भाजपा नेता भैया राम मुंडा की पत्नी और बिरसा मुंडा की मां फगुनी देवी भी घायल हो गये थे. राम की पत्नी का इलाज बुंडू के एक अस्पताल में चल रहा है. वहीं बिरसा की मां का इलाज रांची के रिम्स में किया जा रहा है।

यह भी पढ़ेंः खूंटीः पीएलएफआई उग्रवादियों का तांडव, चलायी सौ राउंड गोलियां, भाजपा नेता की मौत, तीन घायल

सीएम ने भाजपा की ओर से 2 लाख रुपये की आर्थिक सहायता की घोषणा

भाजपा मुरहू मंडल के उपाध्यक्ष भैया राम मुंडा की हत्या पर मुख्यमंत्री ने गहरा दुख जताया है. उन्होंने शोक संतप्त परिवार को सांत्वना देते हुए कहा कि दुख की इस घड़ी में पार्टी उनके साथ खड़ी है, साथ ही पार्टी की ओर से 2 लाख रुपए की आर्थिक सहायता की भी घोषणा की. उन्होंने खूंटी SP को त्वरित कार्रवाई करते हुए हत्यारों की जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का निर्देश दिया. सीएम ने गृह सचिव को उग्रवादी घटना में हत्या पर दी जाने वाली तीन लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की राशि देने का निर्देश दिया.

पीएलएफआई ने किया घटना से इनकार

भैया राम मुंडा हत्या मामले में पीएलएफआई ने संगठन का हाथ होने से इनकार किया है. पीएलएफआई के जोनल कमांडर मार्टिन जी ने कहा है कि भाजपा नेता की हत्या से पीएलएफआई का कोई लेना देना नहीं है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: