न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

खूंटीः भैया राम मुंडा हत्याकांड का 72 घंटे के अंदर खुलासा, वार्ड सदस्य और दो PLFI उग्रवादी गिरफ्तार

42

News Wing Khunti, 04 December: खूंटी के चर्चित भाजपा नेता भैया राम मुंडा हत्याकांड मामले का खुलासा पुलिस ने 72 घंटे के भीतर कर लिया है. पुलिस ने वार्ड सदस्य राजा राम मुंडा समेत पीएलएफआई के तीन उग्रवादियों को हथियार के साथ गिरफ्तार किया है. राजाराम मुंडा, लादू मुंडा और आचू मुंडा को पुलिस ने मुरहू थाना क्षेत्र के बगमा गांव से गिरफ्तार किया है. एसपी ऑफिस में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए पूरे मामले के बारे में विस्तार से बताया.

mi banner add

यह भी पढ़ेंः भाजपा नेता भैया राम मुंडा की हत्या में संगठन का हाथ नहीं : पीएलएफआई

राजाराम ने लेवी के पैसे डकार कर भैया राम मुंडा को फंसा दिया था

एसपी ने बताया कि उग्रवादियों के द्वारा सड़क निर्माण करा रहे ठेकेदार अमरजीत मिश्रा से 2 लाख रुपये की मांग की गई थी, जिसमें ठेकेदार ने 70 हजार रुपये का भुगतान आरोपी राजाराम को कर दिया था, लेकिन राजाराम ने यह पैसा उग्रवादियों को न देकर खुद हड़प गया और भाजपा नेता भैया राम मुंडा का नाम बता दिया, जिससे आक्रोशित उग्रवादी एरिया कमांडर प्रभु सहाय बोदरा अपने दस्ते के साथ भैया राम मुंडा के घर जा धमका और हत्याकांड को अंजाम दिया.

यह भी पढ़ेंः खूंटी गोली कांडः बिरसा ने पहले कहा कुछ लोग घर के बाहर बुला रहे थे, फिर कहा भाई राम मुंडा को बचाने में घायल हुआ (देखें वीडियो)

सभी आरोपी NDPS एक्ट और उग्रवादी कांडों में वांछित

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

जिले के मुरहू थाना क्षेत्र में तीन महीने के भीतर चार बड़े भाजपा नेता की हत्या उग्रवादियों ने की, लेकिन भैया राम मुंडा हत्याकांड का खुलासा खूंटी पुलिस ने महज 72 घंटे के भीतर ही कर दिया. इस हत्याकांड में गिरफ्तार सभी आरोपी NDPS एक्ट और उग्रवादी कांडों में वांछित रहे हैं. गौरतलब है कि हत्याकांड में भैयार राम मुंडा के भाई बिरसा मुंडा के बयान पर 13 लोगों को आरोपी बनाया गया है, जिसमें गांव के वार्ड सदस्य राजाराम मुंडा, आचु मुंडा, लाडू मुंडा, नंदराम मुंडा, सिरसा मुंडा, मादो मुंडा और हिन्दू मुंडा शामिल हैं, जबकि प्रतिबंधित संगठन पीएलएफआई के एरिया कमांडर प्रभु सहाय बोदरा, नोबेल संडी, बिरसा भेंगरा, अजय पूर्ति, चोयता उर्फ सनिका ओड्या, आन्द्रियस स्वांसी शामिल हैं.

यह भी पढ़ेंः खूंटीः पीएलएफआई उग्रवादियों का तांडव, चलायी सौ राउंड गोलियां, भाजपा नेता की मौत, तीन घायल

भाजपा नेताओं की हत्याओं पर तेज हुई सियासत

खूंटी में भाजपा नेताओं की बढ़ते हत्या मामले को लेकर जिले में सियासत तेज़ हो गई है. इसी बीच भाजपा सांसद कड़िया मुंडा ने सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया है. उधर ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा ने भी गिरती कानून व्यवस्था को लेकर पुलिस पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: