न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

कोयला घोटाला: पूर्व सीएम कोड़ा समेत चार दोषियों को सजा, मिली अंतरिम जमानत

46

Ranchi: राजहरा कोयला ब्लॉक आवंटन घोटाले मामले में चार दोषियों के खिलाफ सजा का ऐलान किया गया है. जिसके बाद झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा को राजहरा नॉर्थ कर्नपुरा कोयला खदान के आवंटन में गड़बड़ी करने के मामले में आज शनिवार तीन साल की सजा सुनायी गयी है. साथ ही पांच लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है. पूर्व कोयला सचिव एच सी गुप्ता को तीन साल की सजा, झारखण्ड के पूर्व मुख्य सचिव ए के बसु को तीन साल की सजा और 20 हजार का जुर्माना, वीआईपएसयूएल कंपनी के करीबी विजय जोशी को तीन साल की सजा व 45 लाख का जुर्माना साथ ही वीआईपएसयूएल कंपनी को 50 लाख रुपये के जुर्माने की सजा सुनायी गयी है. कुल मिलाकर सभी पर 25 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

eidbanner

इसे भी पढ़ें- कोल स्कैम : टल गया फैसला, मधु कोड़ा को अब 16 दिसंबर को सुनायी जायेगी सजा

मिली दो महीने की अंतरिम जमानत

सजा सुनाए जाने के बाद सभी दोषियों को दो महीने के लिए अंतरिम जमानत मिल गयी है. दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में सभी ने जमानत की याचिका दी थी. जिसे मंजूर करते हुए कोर्ट ने उन्हें दो महीने की अंतरिम जमानत दे दी है.

इसे भी पढ़ें- कोयला घोटाला : कोड़ा पर तय होगा आपराधिक षड़यंत्र का आरोप

13 दिसंबर को हुए थे सभी दोषी करार

गौरतलब है कि सीबीआई स्पेशल कोर्ट के द्वारा कोयला घोटाला मामले को लेकर 13 दिसंबर को झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा, पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता समेत पूर्व झारखंड चीफ सेक्रेटरी एके बसु और प्राइवेट कंपनी विनी आयरन एंड स्टील उद्योग लिमिटेड (वीआईएसयूएल) को दोषी करार दिया था. गुरुवार को सजा के बिंदुओं पर सुनवाई हुई. कोड़ा के वकील ने कोर्ट से कहा कि दो मासूम बच्चियों के पालन-पोषण की जिम्मेवारी उन पर है. स्वास्थ्य से जुड़ी उनकी खुद की समस्याएं भी हैं. इसे देखते हुए उन्हें कम से कम सजा दी जानी चाहिए.

इसे भी पढ़ें- कोयला घोटाला मामला : बच्चों की परवरिश को लेकर चिंतित कोड़ा ने कोर्ट से मांगा समय, 16 दिसंबर को कोर्ट सुनाएगी सजा

तीन अन्य आरोपियों ने भी खराब स्वास्थ्य का हवाला दे कम सजा देने की अपील की थी

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

इसी तरह 3 अन्य आरोपियों ने भी खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए न्यूनतम सजा दिये जाने की अपील की. दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद कोर्ट ने 16 दिसंबर तक अपना फैसला सुरक्षित रख लिया. ज्ञात हो कि बुधवार को कोर्ट ने मधु कोड़ा समेत 4 लोगों को कोयला आवंटन घोटाला मामले में दोषी करार दिया था. इससे पहले, बुधवार को कोयला घोटाला मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने जैसे ही अपना फैसला सुनाया, मधु कोड़ा पिछले दरवाजे से कोर्ट रूम से निकल गये थे. यहां से निकलकर किसी अज्ञात स्थल पर चले गये.

इसे भी पढ़ें- कोयला घोटाला : 5 कम्पनियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

किस पर लगे कौन-कौन से आरोप

मधु कोड़ा, पूर्व सीएम, झारखंड : कोड़ा 14 सितंबर, 2006 से 23 अगस्त, 2008 तक झारखंड के सीएम रहे. उन पर विन्नी आयरन एंड स्टील के लिए राजहरा कोल ब्लॉक आवंटन की अनुशंसा में आपराधिक साजिश का आरोप है.

ए के बसु, पूर्व मुख्य सचिव : 19 मार्च, 2008 से 31 अगस्त, 2009 तक एके बसु झारखंड के मुख्य सचिव थे. इनके कार्यकाल में वीआइएसयूएल को कोल ब्लॉक आवंटित किया गया था. हालांकि, इसके लिए उद्योग विभाग ने सिफारिश नहीं की थी. 

एचसी गुप्ता, पूर्व कोयला सचिव: सितंबर, 2005 से नवंबर, 2008 तक कोयला सचिव थे. स्क्रीनिंग कमेटी चेयरमैन गुप्ता ने यह तथ्य तत्कालीन पीएम से छिपाया कि झारखंड सरकार ने वीआईएसयूएल को आवंटन करने की सिफारिश नहीं की .

इसे भी पढ़ें- कोयला घोटाला : जिंदल, कोड़ा को जमानत

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: