Uncategorized

कोडरमाः नगर पर्षद कार्यपालक पदाधिकारी को विदेश यात्रा पड़ेगी महंगी ! नियमों का हुआ उल्लंघन

Koderma: नगर पर्षद के आंतरिक संसाधन के मद से विदेश यात्रा पर जाना झुमरीतिलैया नगर पर्षद के कार्यपालक पदाधिकारी पंकज झा को महंगा पड़ सकता है. दरअसल डीसी ने कोडरमा के एसडीओ को मामले की जांच के आदेश दिये थे. जांच में एसडीओ प्रभात कुमार बरदियार ने पाया कि विदेश यात्रा के खर्चे को लेकर सरकारी नियमों का घोर उल्लंघन किया गया है. एसडीओ ने जांच रिपोर्ट डीसी को सौंप दी है. बताया जा रहा है कि जांच में विदेश यात्रा को बिना वित्त व कार्मिक विभाग के अनुमति के बताया गया है.

इसे भी पढ़ेंःड्राइवर की जुबानी सुने खूंटी गैंगरेप की पूरी कहानी

रिपोर्ट में कहा गया है कि साउथ ऑस्ट्रेलिया के एडिलेड में इकोनेट नॉलेज फाउंडेशन द्वारा आयोजित होने वाले ग्रीन इंडस्ट्रियल ग्लोबल लीडरशिप प्रोग्राम में भाग लेने का निर्णय गत 4 मई को नगर पर्षद बोर्ड की बैठक में लिया गया है. वहीं जांच के क्रम में नगर पर्षद कार्यालय में उपाध्यक्ष संतोष यादव सहित वार्ड पार्षद विशाल ¨सह, बसंत ¨सह, अनुराग ¨सह, घनश्याम तुरी ने बताया गया कि यात्रा को लेकर खर्च की स्वीकृति किस मद से दी जाएगी, इस संबंध में चर्चा नहीं हुई. बोर्ड की बैठक में अन्यान्य कंडिका 7 में इसकी स्वीकृति दी गई है.

वहीं कार्यपालक पदाधिकारी पंकज झा द्वारा आंतरिक संसाधन मद से राशि देने का अनुरोध किया गया, जिसमें अध्यक्ष ने स्वीकृत यात्रा से लौटने के बाद विपत्र देने की बात कही है. जांच रिपोर्ट में अधिनियम का हवाला देते हुए कहा गया है कि नगर पर्षद झुमरीतिलैया द्वारा आंतरिक संसाधन की राशि से विदेश यात्रा की स्वीकृति देना झारखंड नगर पालिका अधिनियम का उल्लंघन है. वहीं वित्त विभाग के संकल्प एवं भारत सरकार के पत्र का हवाला देते हुए कहा गया है कि इसके अनुसार सरकारी सेवकों को कर्तव्य के दौरान देय यात्रा भत्ता की दरों में बताया गया है कि 6600 ग्रेड पे पाने वाले अधिकारी हवाई जहाज से यात्रा कर सकते है. फ्लाईट के इकोनॉमी श्रेणी में यात्रा की अनुमति विभाग के प्रधान सचिव के द्वारा कई शर्तों पर दी जा सकती है. इसके तहत इस प्रावधान का उपयोग अत्यंत ही विशेष परिस्थिति में किया जाए. वहीं यात्रा व्यय मद में उपबंधित राशि का ध्यान रखा जाय. जबकि कार्यपालक पदाधिकारी व सीटी मैनेजर का ग्रेड पे 5400 ही है. साथ ही इस यात्रा को लेकर अपने विभाग से या कार्मिक विभाग से अनुमति नहीं ली है. जांच रिपेार्ट में कहा गया है कि संबंधित पदाधिकारी से मंतव्य प्राप्त कर नियमानुसार कार्रवाई की जा सकती है.

Sanjeevani

इसे भी पढ़ेंःखूंटी : पुलिस-पत्थलगड़ी समर्थकों की झड़प में एक की मौत, 50 से ज्यादा हिरासत में

बता दें कि पिछले दिनों नगर पर्षद के कार्यपालक पदाधिकारी पंकज झा व सिटी मैनेजर ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गए थे. उन्हें 27 जून को लौटना है. नगर पर्षद के उपाध्यक्ष संतोष यादव ने प्रेस वार्ता कर बताया था कि बोर्ड के सदस्यों को गुमराह कर कार्यपालक पदाधिकारी नगर पर्षद के आंतरिक संसाधन मद से 2.97 लाख अग्रिम लेकर विदेश दौरा पर चले गए. किसी भी स्थिति में यह प्रतीत नहीं होता है कि यह दौरा सरकारी था और सरकार से इसके लिए कोई अनुमति थी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. ​​​​​​​

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button