न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

केजरीवाल के खिलाफ मानहानि के मुकदमे में स्थगनादेश देने से अदालत का इनकार

22

New Delhi: दिल्ली उच्च न्यायालय ने शीला दीक्षित के पूर्व सहयोगी पवन खेड़ा की ओर से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के खिलाफ दायर आपराधिक मानहानि के मुकदमे की सुनवाई पर अंतरिम स्थगनादेश देने से इनकार कर दिया है. न्यायमूर्ति ए. के. पाठक ने ऐसे मामलों का निपटारा एक साल के भीतर करने संबंधी हाईकोर्ट के आदेश के आलोक में अंतरिम स्थगनादेश देने से मना कर दिया.

इसे भी पढ़ेंकाला हिरण शिकार केस में सलमान खान दोषी कारार, बाकी सभी आरोपी बरी

अदालत ने हालांकि, इस संबंध में राज्य और शिकायतकर्ता पवन खेड़ा को केजरीवाल की अर्जी पर नोटिस जारी किया है. केजरीवाल ने अपनी अर्जी में कहा है कि शिकायत सुनवाई योग्य नहीं है क्योंकि प्रभावित शख्स निचली अदालत नहीं गये थे.

इसे भी पढ़ें: CWG 2018: मीराबाई चानू ने रिकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन कर देश के लिए जीता गोल्ड

अक्तूबर 2012 में बिजली दरों में वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान दीक्षित पर केजरीवल की कथित टिप्पणियों को लेकर मानहानि का मुकदमा दायर किया गया है. खेड़ा ने अपनी अर्जी में आरोप लगाया है कि केजरीवाल ने एक टीवी शो के दौरान तत्कालीन मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग किया. केजरीवाल की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता सुधीर नंदराजोग ने कहा कि पहली नजर में शिकायत अवैध है और निचली अदालत में चल रही सुनवाई को स्थगित करने का अनुरोध किया. अदालत ने कहा कि शीर्ष अदालत के निर्देशों के आलोक में इस स्तर पर कोई अंतरिम आदेश नहीं दिया जा सकता है. अदालत ने मामले की अगली सुनवाई के लिए11 जुलाई की तारीख तय की है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबु और ट्विट पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: