Uncategorized

केजरीवाल की हिसार रैली : क्या 350 रुपए देने का वादा कर बुलाए गए थे लोग ?

HISAR : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और विवादों का पुराना नाता रहा है. बीजेपी से तू-तू मैं-मैं तो पुरानी बात है, इस बार मामला कुछ और हो, दरअसल विवाद की वजह हिसार में केजरीवाल की एक रैली से जुड़ी है. दरअसल केजरीवाल ने रविवार को हिसार के पुराना कॉलेज ग्रांउड में एक रैली की थी, जिसमें उन्होंने केंद्र और हरियाणा सरकार को निशाने पर लिया और वादा किया कि हरियाणा में उनकी पार्टी की सरकार बनने पर ना सिर्फ किसानों के लिए आयोग की सिफारिशें लागू की जाएगी बल्कि स्वास्थ्य, शिक्षा, कानून व्यवस्था और भ्रष्टाचार के मुद्दों पर भी बेहतर काम किया जाएगा. वहीं रैली खत्म होने के बाद एक नया विवाद शुरू हो गया है. केजरीवाल की रैली से जुड़ी जो हैरान करने वाली जानकारी सामने आ रही है. केजरीवाल सरकार में मंत्री रह चुके और इन दिनों केजरीवाल के धुर विरोधी की पहचान रखने वाले कपिल मिश्रा ने एक विडियो के जरिये आरोप लगाया है कि केजरीवाल की रैली में लोगों को 350 रुपये देने का लालच देकर लाया गया था. कपिल मिश्रा के मुताबिक आम आदमी पार्टी की टी शर्ट और टोपी लगाए लोगों ने खुद को बहादुरगढ़ का मजदूर बताया. मजदूरों का कहना था कि उन्हें कहा गया था कि रैली खत्म होते ही 350 रुपये दिये जाएंगे, मगर रैली के बाद कहा गया कि पैसे कल ले लेना. वहीं मजदूरों से खाने-पीने के इंतजाम का भी वादा किया गया था, मगर किसी को खाना नहीं मिला.

इसे भी देखें- केंद्रीय मंत्री का बेतुका बयान, US वीजा के लिए निर्वस्त्र होना मंजूर, आधार के लिए रोना

रविवार को रैली में केजरीवाल ने कहा था कि हरियाणा की पूर्व हुड्डा सरकार ने जिस भ्रष्टाचार को शुरू किया था, उसे खट्टर सरकार ने पांच गुना आगे बढ़ा दिया. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा, ‘बीजेपी और कांग्रेस ने वोट की राजनीति का लाभ लेने के लिए हरियाणा में जाटों और गैर जाटों के बीच दंगे करवाए. पिछले तीन साल के दौरान हरियाणा में जातिवाद के नाम पर काफी हिंसा हुई है और खट्टर सरकार गहरी नींद में है.’  कपिल मिश्रा का आरोप है कि केजरीवाल की रैली में लोगों को जुटाने के लिए झूठ और छल का सहारा लिया गया और भोले भाले लोगों को रुपये देने का झांसा देकर रैली में लाया गया.
न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Catalyst IAS
SIP abacus

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button