Uncategorized

कासगंज हिंसाः चंदन गुप्ता की हत्या का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, कानून व्यवस्था का हवाला दे कर कांग्रेस दल को बीच में रोका गया

कासगंज जिले में हिंसा के दौरान हुई चंदन गुप्ता की हत्या का मुख्य आरोपी सलीम वर्की को गिरफ्तार कर लिया गया है. वहीं कासगंज जिले की सीमा पर एटा के मिरहाची क्षेत्र में कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल को रोक दिया गया है. उन्हें कानून व्यवस्था का हवाला दे कर संकटग्रस्त क्षेत्र में जाने से रोका गया है. उल्लेखनीय है कि 26 जनवरी को कासगंज जिले में तिरंगा यात्रा के दौरान विश्व हिंदू परिषद और एबीवीपी के कार्यकर्ताओं द्वारा रैली निकाले जाने के दौरान नारेबाजी को लेकर दो समुदाय के लोगों के बीच बहस हिंसा बदल गयी.

Locknow: कासगंज जिले में हिंसा के दौरान हुई चंदन गुप्ता की हत्या का मुख्य आरोपी सलीम वर्की को गिरफ्तार कर लिया गया है. वहीं कासगंज जिले की सीमा पर एटा के मिरहाची क्षेत्र में कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल को रोक दिया गया है. उन्हें कानून व्यवस्था का हवाला दे कर संकटग्रस्त क्षेत्र में जाने से रोका गया है. उल्लेखनीय है कि 26 जनवरी को कासगंज जिले में तिरंगा यात्रा के दौरान विश्व हिंदू परिषद और एबीवीपी के कार्यकर्ताओं द्वारा रैली निकाले जाने के दौरान नारेबाजी को लेकर दो समुदाय के लोगों के बीच बहस की हिंसा में बदल गयी थी. दोनों तरफ से फायरिंग और पत्थरबाजी हुई थी जिसमें तिरंगा यात्रा में शामिल चंदन गुप्ता नाम के शख्स की गोली लगने से मौत हो गई थी. दूसरे समुदाय के एक व्यक्ति को भी गोली लगी थी, जिसके बाद से यहां लगातार तोड़फोड और आगजनी की घटनाएं सामने आयीं.

इसे भी पढ़ें ः अब तो अटल बिहारी जैसा कोई प्रधानमंत्री भी नहीं है, जो योगी को राजधर्म की याद दिलाए

Catalyst IAS
ram janam hospital

हिंसा से भयभीत लोगों में विश्वास पैदा करने का प्रयास किया गया

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कासगंज में सांप्रदायिक हिंसा में शामिल लोगों से सख्ती से निपटने के ऐलान के एक दिन बाद सुरक्षा बलों ने संवेदनशील इलाकों में गश्त बढ़ा दी और हिंसा से भयभीत लोगों में विश्वास पैदा करने का प्रयास किया.

मिरहाची क्षेत्र में कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल को रोक दिया गया

अधिकारियों ने बताया कि कासगंज जिले की सीमा पर एटा के मिरहाची क्षेत्र में कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल को रोक दिया गया. कानून व्यवस्था का हवाला दे कर उन्हें संकटग्रस्त क्षेत्र में जाने से रोका गया. कासगंज के जिला मजिस्ट्रेट आरपी सिंह ने कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल को अनुमति देने से इंकार किया. उनका कहना है संकटग्रस्त क्षेत्र में जाने से और समस्या पैदा हो सकती हैं.

इसे भी पढ़ें ः कासगंज में अभी भी तनावपूर्ण हैं हालात, प्रशासन सतर्क, बड़ी तादाद में पुलिस बल तैनात

प्रशासन पूरी तरह सतर्क

पुलिस ने बताया कि कासगंज में तनाव है लेकिन स्थिति नियंत्रण में है. हिंसा में एक युवक की जान गयी है और दो अन्य घायल हुए हैं. अधिकारियों ने बताया कि कासगंज हिंसा पर केन्द्र की ओर से रिपोर्ट तलब की गयी है. रिपोर्ट तैयार हो रही है. उन्होंने कहा, हम घटना की रिपोर्ट भेज रहे हैं. शांति बहाली के उपाय किये गये हैं. केन्द्रीय गृह मंत्रालय को रिपोर्ट भेजी जाएगी. शहर में बड़ी तादाद में पुलिस बल तैनात किया गया है. रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) और पीएसी के जवान स्थिति पर नजर बनाये हुए हैं. अफवाहें फैलाने वालों और उपद्रवियों को लेकर प्रशासन पूरी तरह सतर्क है.

इसे भी पढ़ें ः ‘कलंक’ और ‘शर्म’ की बात है कासगंज हिंसा : राज्यपाल राम नाईक

सीएम योगी ने कहा, अराजकता फैलाने वालों से पूरी सख्ती से निपटा जाएगा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, हर नागरिक को सुरक्षा प्रदान करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है. उन्होंने कहा, भ्रष्टाचारियों और अराजकता फैलाने वालों से पूरी सख्ती से निपटा जाएगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button