न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कश्मीरी युवकों के बंदूक थामने पर उमर ने जतायी चिंता, महबूबा मुफ्ती को ठहराया जिम्मेवार

53

Srinagar : जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने अधिक संख्या में युवाओं के आंतकवाद में शामिल होने पर चिंता व्यक्त की साथ ही उन्होंने हिजबुल कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के दो साल बाद सामने आए इस नए चलन के लिए मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को जिम्मेदार ठहराया है.

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर में आतंकवाद विरोधी अभियान: 13 आतंकवादी ढेर, तीन जवान शहीद, चार नागरिकों की मौत

रविवार को हुए हमले में मारे गये 11 लोग स्थानीय कश्मीरी 

उमर ने अनेक ट्वीट करके कहा कि 12 लोगों के मारे जाने की पुष्टि के बाद मेरा मानना है कि11 स्थानीय कश्मीरी हैं (और) 12 वें व्यक्ति की पहचान की जा रही है. इनमें में कोई भी विदेशी आंतकवादी नहीं है. क्या दिल्ली की सत्ता पर काबिज कोई भी इससे चिंतित नहीं है क्योंकि मैं तो यकीनन हूं.  उमर के ट्वीट शोपिया और अनंतनाग में रविवार को हुई तीन मुठभेडों पर थे जिसमें 13 आतंकवादी, चार नागरिक और सेना के तीन जवान मारे गए थे.

इसे भी पढ़ें: इराक से 38 भारतीयों का शव लेकर सोमवार को स्वदेश लौटेंगे वीके सिंह

बडी संख्या में आंतकवादी संगठनों में शामिल हो रहे है कश्मीरी युवक

उमर ने कहा कि महबूबा मुफ्ती की सबसे बड़ी असफलता जिस पर बहुत कम चर्चा हुई है वह है बडी संख्या में कश्मीरी युवकों के आंतकवादी संगठनों में शामिल होना. साथ ही उमर ने ट्ववीट करके कहा कि कश्मीर में रक्तरंजित रविवार, 13 आंतकवादी मारे सेना के तीन जवान ड्यूटी के दौरान मारे गए और मुठभेड़ स्थल पर चार प्रदर्शनकारी मारे गए.  

विपक्षी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस ने कार्यकारी अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री पर बरसते हुए कहा कि घाटी में मुठभेड बढ रहे हैं और वह दिल्ली में हैं. उन्होंने कहा कि जब ये सब घट रहा है तो भी मुख्यमंत्री ने अपनी दिल्ली की यात्रा को बीच में समाप्त करना उचित नहीं समझा. वहां क्या इतना जरूरी है जिससे वह वहां रूकीं हुई हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: