न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कर्नाटक: पोस्टकार्ड न्यूज पोर्टल के संपादक महेश हेगड़े फर्जी खबर चलाने के आरोप में गिरफ्तार, ट्विटर पर पीएम मोदी भी करते हैं फॉलो

28

Bengaluru: कर्नाटक के एक न्यूज पोर्टल पोस्टकार्ड न्यूज के संपादक महेश विक्रम हेगड़े को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. महेश हेगड़े Postcard.news नाम की वेबसाइट चलाते हैं. उनपर आरोप है कि उन्होंने अपने पोर्टल पर फर्जी और धार्मिक भावनाएं भड़काने वाली खबरें चलाई थीं. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि हेगड़े के पोर्टल पर एक खबर चलाई थी जिसमें कहा गया था कि बेंगलुरु में एक जैन मुनि पर कुछ मुस्लिम युवकों ने हमला किया है. बता दें कि पोस्टकार्ड वेबसाइट पर इससे पहले भी फर्जी खबर चलाने का आरोप लग चुका है.

इसे भी पढें:मुख्यमंत्री ने झारखंड का नियम बनने के बाद बिहार के नियम की गलत व्याख्या कर भ्रष्टाचार करने के आरोपी मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी को दी क्लीन चिट

IPC 153A, 120, 34 के तहत केस दर्ज

महेश हेगड़े पर कर्नाटक में दो समुदायों के बीच नफरत फैलाने वाली खबरें अपने न्यूज पोर्टल पर चलाने का आरोप लगा है.  दरअसल महेश विक्रम हेगड़े ने वेबसाइट पर एक फेक न्यूजचलाई थी जिसमें लिखा था कि बेंगलुरु में एक जैन मुनि पर कुछ मुस्लिम युवकों ने हमला कर दिया है.न्होंने घायल जैन मुनि की फोटो ट्वीट करते हुए लिखा था कि सिद्धारमैया सरकार में कोई सुरक्षित नहीं है. इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर हजारों बार शेयर किया जा चुका है. जबकि पुलिस का कहना है कि जैन मुनि एक ऐक्सिडेंट में घायल हुए थे और ऐसी खबर चलाकर धार्मिक उन्माद फैलाया जा रहा था. हेगड़े के खिलाफ आईपीसी की धारा 153, 120 और 34 के अलावा आईटी ऐक्ट के तहत भी मामला दर्ज किया गया है. उन्हें फिलहाल 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है. 

इसे भी पढें: AIIMS में लालू यादव से केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने की मुलाकात, सियासी अटकलें हुई तेज

हालांकि यह पहली बार नहीं है कि उन पर आरोप लगे हो. हेगड़े पर इससे पहले भी फेक न्यूज चलाने के आरोप लग चुके हैं. ट्विटर पर उन्हें पीएम नरेंद्र मोदी भी फॉलो करते हैं. वहीं हेगड़े की गिरफ्तारी पर भाजपा नेता प्रताप सिन्हा ने कांग्रेस पार्टी गवर्नमेंट की जमकर आलोचना की है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: