न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ऐसी योजनाएं हो रही हैं तैयार जो सरकार के लिए नहीं राज्य के लिए होगी : राज्य विकास परिषद

21

NEWS WING

Ranchi, 29 November : राज्य में तेजी से विकास हो इसलिए तीन सालों के लिए योजनाओं को तैयार किया जा रहा है. ये ऐसी योजनाएं होंगी जिनमें सिर्फ सरकार ही बल्कि पीएसयू और सीएसआर फंड खर्च करने वाली कंपनियां भी शामिल होंगी. योजनाओं को तैयार करते वक्त इस बात का पूरा ख्याल रखा जा रहा है कि योजना के लिए कोई एक ही विभाग जिम्मेदारी ना हो. एक योजना पर तीन-चार विभाग मिलकर काम करें. अक्सर देखा जाता है कि विभाग दूसरे विभाग के काम में दखल देने से कतराते हैं. जिसका असर सीधा योजना पर पड़ता है. इसलिए इस तरह की योजनाओं को तैयार किया जा रहा है. राज्य विकास परिषद की बैठक के बाद राज्य विकास परिषद के सदस्य टी नंद कुमार इन बातों को मीडिया के सामने रख रहे थे. उन्होंने बताया कि कैसे परिषद विकास योजनाओं को तैयार कर रहा है.

सभी को भेजा जाएगा योजनाओं का प्रारूप, मांगे जाएंगे सुझाव

राज्य विकास परिषद के सदस्य टी नंद कुमार ने बताया कि योजनाओं का प्रारूप राज्य के सभी विधायक, सांसद को भेजा जाएगा. साथ ही सभी विभागों से योजनाओं को लेकर सुझाव भी मांगे जाएंगे. ये सुझाव विभाग को प्रारूप  भेजने के बाद 15 दिनों के अंदर दे देनी है. एक बार योजनाओं का प्रारूप पूरी तरह से तैयार हो जाए उसके बाद सीएम के साथ बैठक की जाएगी. योजना को हरी झंडी मिलते ही इसे सरकार के बजट से जोड़ने का काम शुरू हो जाएगा. श्री कुमार ने कहा कि इस तरह का प्रयास अब से पहले झारखंड में नहीं हुआ था. यह एक अनोखा प्रयास है.

इन योजनाओं पर खासकर हो रहा है काम

श्री कुमार ने बताया कि राज्य विकास परिषद राज्य में विकास के लिए कुल 15 प्वाइंट्स पर काम कर रहा है. इसमें ग्रामीण समृद्धि और जीवन की गुणवत्ता, किसनों की आय को दोगुना करना, समावेशी विकास, बेहतर शहरी जीवन, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा तक पहुंच, कुशल कार्यबल और उद्यमशीलता को बढ़ावा, सुलभ और गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं, शुद्ध पेयजल और स्वच्छता तक पहुंच, उर्जा की उपलब्धता, ट्रांस्पोर्टेशन कनक्टीविटी का विस्तार, महिला सशक्तिकरण और बाल संरक्षण, रोजगार के लिए औद्योगिक विकास, वन प्रबंधन प्रमुख हैं.

जिला स्तर पर भी बनेंगी योजनाएं

श्री कुमार ने कहा कि राज्य स्तर पर ही काम करने से नहीं होगा. जिला स्तर पर भी ध्यान देने की जरूरत है. जिला स्तर पर काम होगा तो ही परिणाम मिल पाएंगे. उन्होंने कहा कि अभी योजनाओं के लिए टारगेट्स को बढ़ा कर दिखाया गया है. ताकि ज्यादा से ज्यादा टारगेट को हासिल किया जा सके. श्री कुमार ने बताया कि इन योजनाओं को तैयार करने में रमेश शरण और हरिश्वर दयाल की भी काफी अहम भूमिका है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: