न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एटीएम सर्विसिंग कंपनियों की सेवाओं का बैंकों पर नोटबंदी के समय का अब भी 25 करोड़ रुपये बकाया: सीएलए

30

New Delhi: नोटबंदी के एक साल बाद भी उस दौरान एटीएम सर्विसिंग कंपनियों (सीआईटी) को एटीएम प्रणालियों को पुनर्वव्यवस्थित करने के काम का बैंकों ने अभी तक 25 करोड़ की बकाया राशि का भुगतान नहीं किया है. इन कंपनियों ने नोटबंदी के दौरान अतिरिक्त सेवाओं के एवज में भुगतान किया जाना है. कैश लॉजिस्टिक एसोसिएशन (सीएलए) ने आज यह जानकारी दी.

यह भी पढ़ें: 22-23 बड़े कर्ज में डूबे खातों को NCLT भेजेंगे बैंक

अब तक केवल 60 प्रतिशत राशि का किया गया भुगतान 

सीएलए के महासचिव यू एस पालीवाल ने कहा कि इन कंपनियों ने पुराने 500 और 1000 रुपये के नोटों को एटीएम से निकालने और करीब 1.5 लाख एटीएम को नए पांच सौ और दो हजार रुपये के नोटों के हिसाब से परिवर्तित करने के लिए अतिरिक्त सेवाएं प्रदान कीं. इस काम में नौ कंपनियां शामिल थीं. उन्होंने कहा कि इन कंपनियों की ओर से कई बार निवेदन करने के बाद भी अब तक केवल 60 प्रतिशत राशि का भुगतान किया गया है. सीएलए ने इस मुद्दे पर भारतीय बैंक एसोसिएशन (आईबीए) से भी संपर्क किया था. पालीवाल ने कहा कि रिजर्व बैंक ने कंपनियों के प्रयासों को सराहा था और आईबीए ने सदस्य बैंकों को कंपनी के प्रयासों और सेवाओं के एवज में 4000 रुपये प्रति एटीएम का भुगतान करने के निर्देश दिए थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: