न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

उपायुक्त ने जलसहिया व मुखिया के कार्यों को सराहा, कहा- सभी के सहयोग से प्रखंड बनेगा ओडीएफ

35

Simdega : बोलबा प्रखंड कार्यालय में स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अंतर्गत स्वच्छता सम्मेलन सह समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया. बैठक की अध्यक्षता करते हुये उपायुक्त जटाशंकर चौधरी ने बोलबा प्रखंड के सभी पंचायत मुखिया, जलसहिया के कार्यों की सराहना की. सभी लोगों की मेहनत से ही बेसलाईन सर्वे की सूची के अनुसार सभी पंचायतों में शौचालय निर्माण पूर्ण कर लिया गया है. शत प्रतिशत शौचालय निर्माण होने से ही प्रखंड पूर्ण ओडीएफ हो पायेगा. मालसाड़ा तथा समसेरा पंचायत की मुखिया ने बताया कि हमारा पंचायत पूर्ण रूप से ओडीएफ हो चुका है. जिला स्तर से जांच टीम के द्वारा जांच करायी जा सकती है. उपायुक्त ने दोनों मुखिया को शुभकामनाएं दी. शौचालय का उपयोग भी होना बहुत जरूरी है. सभी स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्रों में हैंडवास शेड होना चाहिये. इसके लिए जल्द ही जिला स्तर पर हैंडवास से संबंधित एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें – गुमला : भाजपा प्रखंड अध्यक्ष विक्की साहू की हत्या, अपराधियों ने पहले मारी गोली, फिर भुजाली से काट डाला

आज होने वाले कार्य को कल पर ना छोड़ें : डीसी

उन्होंने सभी मुखिया, जनप्रतिनिधि, पदाधिकारी, कर्मी को निर्देश दिया कि जो कार्य आज होना है उसे आज ही पूर्ण करें. कल के भरोसे नहीं छोड़ें. मुखिया से पंचायतवार समीक्षा के क्रम में बेसलाईन सूची में परेशानी होने की स्थिति को देखते हुए उपायुक्त ने कार्यपालक अभियंता पीएईचडी तथा बीडीओ बोलबा को दो दिनों के अंदर सही सूची समर्पित करने का निर्देश दिया. बेहरीनबासा, मालसाड़ा, समसेरा, पिड़ियापोंछ, कादोपानी पंचायत के मुखिया को उपायुक्त ने निर्देश दिया कि 5 दिनों के अंदर वैसे परिवार जो गरीब हैं तथा स्वयं से शौचालय का निर्माण नहीं कर सकते हैं, उनका भी शौचालय बनाएं. 

इसे भी पढ़ें – सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार से पूछा, शिक्षकों का वेतन चपरासी से कम क्यों है?, शिक्षकों में खुशी की लहर  

पंचायत का विकास करने वाली मुखिया होंगी सम्मानित

जिस पंचायत की महिला मुखिया पंचायत के विकास, कुरीतियों को दूर करने, नशपान मुक्त पंचायत बनाने में, अंधविश्वास को जड़ से खत्म करने में तथा समाज को सही दिशा में ले जाने का उत्कृष्ट कार्य करेगी, उस महिला मुखिया को रानी मुखिया का दर्जा दिया जायेगा, तथा उन्हें सम्मानित भी किया जायेगा. 

इसे भी पढ़ें – ड्रग लाइसेंस के बिना दस साल से चल रहा ब्लड बैंक, डीम्ड लाइसेंस के साथ चार महीने ही चल सकता है ब्लड बैंक

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: