न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इस्लामी तंजीम ने फतवा जारी कर अंगदान को गुनाह ठहराया

10

Kanpur : कानपुर की एक इस्लामी तंजीम ने फतवा जारी करके अंगदान को नाजायज और गुनाह ठहराया है. कानपुर स्थित जामियतुल अरबिया अहसनुल मदारिस के मुफ्ती मोहम्मद हुसैन कादरी बरकाती ने गत पांच मार्च को दिये गये फतवे में कहा है कि इंसान का जिस्म अल्लाह की अमानत है. उसका बंदा अपने किसी भी अंग का मालिक नहीं होता. वह सिर्फ उसका ख्याल रख सकता है. फतवे में कहा गया है कि शरीयत के मुताबिक किसी इंसान को अपने शरीर के किसी भी अंग को दान करने का हक नहीं होता. लिहाजा शख्स के मरने के बाद अपने अंगों का दान करने की वसीयत हरगिज जायज नहीं है. ऐसा करने वाला शख्स गुनहगार होगा. मुफ्ती ने अपने फतवे के समर्थन में पूर्व में जारी ऐसे कई फतवों का हवाला दिया है.

इसे भी पढ़ें- भ्रष्टाचार पर करारा प्रहार के नाम पर सिर्फ छोटे कर्मियों और अधिकारियों पर चला सरकारी डंडा, एसीबी की कार्रवाई पर झारखंड सरकार थपथपा रही अपनी पीठ

इसे भी पढ़ें- टंडवा में नही रुक रही कोयला ट्रांसपोर्टरों से अवैध वसूली, आक्रमण के लिए विजय नामक व्यक्ति कर रहा वसूली

इसे भी पढ़ें –  ब्लड बैंक में अनियमितता को लेकर रक्तदान सामाजिक कल्याणकारी संगठन ने रिम्स निदेशक को सौंपा ज्ञापन

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: