Uncategorized

इंडोनेशिया का सेल्फी वाला बंदर बना पर्सन ऑफ द ईयर

News Wing
Jakarta, 06 December:
अपनी दांत दिखाने वाली सेल्फी लेने के बाद सुर्खियों में आये और अमेरिका के कॉपीराइट मामले में ऐतिहासिक घटना को जन्म देने वाले इंडोनेशिया के बंदर को आज पशु अधिकारों के लिये काम करने वाले समूह ने ‘‘पर्सन ऑफ द ईयर’’ के तौर पर नामित किया है. पशु अधिकारों के लिये काम करने वाली संस्था ‘पीपुल फॉर द एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स’ (पेटा) ने ही इस बंदर की सेल्फी का मामला उठाया था. पेटा ने नारूतो नामक इस बंदर को सम्मानित करते हुए यह कहा कि काले रंग का यह बंदर एक जीव है ना कि कोई वस्तु.

इसे भी पढ़ें- रांची: न बनी स्क्रूटनी कमिटी, न हुई तथ्यों की जांच फिर कैसे दिया अमेटी यूनिवर्सिटी का दर्जा

2011 में बंदर ने ली थी अपनी सेल्फी

Catalyst IAS
SIP abacus

वर्ष 2011 में सुलावेसी द्वीप पर नारूतो ने ब्रिटिश नेचर फोटोग्राफर डेविड स्लेटर के लगाये एक कैमरे की लेंस की ओर घूरते हुए कैमरे का बटन दबा दिया था. डेविड प्रकृति एवं इससे जुड़ी वस्तुओं की तस्वीरें लेते हैं. यह तस्वीर तेजी से वायरल होने लगी थी और पेटा ने इसके खिलाफ मुकदमा दायर कर दावा किया था कि छह साल के नारूतो को अपनी तस्वीर का रचनाकार एवं मालिक घोषित करना चाहिए.

Sanjeevani
MDLM

इसे भी पढ़ें- झारखंड में शिक्षा व्यवस्था बेहाल, 30 छात्रों पर होने चाहिए एक शिक्षक, लेकिन 63 छात्रों पर हैं एक

पहली बार पशु को संपत्ति का मालिक घोषित करते हुए मुकदमा दायर किया गया था

पेटा के संस्थापक इनग्रिड नेवकिर्क ने बुधवार को एक बयान में कहा कि नारूतो की ऐतिहासिक सेल्फी ने उस विचार को चुनौती दी कि व्यक्ति कौन है और कौन नहीं है. ऐसा पहली बार है जब इस पशु को किसी की संपत्ति घोषित करने के बजाय उसे संपत्ति का मालिक घोषित करने की मांग करते हुए कोई मुकदमा दायर किया गया है. बहरहाल इस मुकदमे से अंतरराष्ट्रीय कानूनी विशेषज्ञों के बीच पशुओं के लिये उनके व्यक्तित्व की पहचान और वे अपनी संपत्ति के मालिक हो सकते हैं या नहीं, इसे लेकर एक बहस छिड़ गयी. सितंबर में अदालत के फैसले के साथ मामले में इस बात पर सहमति बनी कि डेविड भविष्य में बंदर की सेल्फी के इस्तेमाल या उसकी बिक्री से होने वाली कमाई का 25 प्रतिशत हिस्सा इंडोनेशिया में इन बंदरों की रक्षा में मदद के लिये देंगे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button