न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आसनसोल में सांप्रदायिक हिंसा के बाद तनाव बरकरार, धारा 144 लागू, इंटरनेट सेवा बंद

26

Rajesh Nagbanshi

Assansol: आसनसोल के रानीगंज में रामनवमी के अवसर पर भड़की हिंसा के बाद तनाव अब भी बरकरार है. इधर माहौल को शांत और सामान्य करने के लिए आसनसोल-रानीगंज इलाके के पांच पुलिस थाना क्षेत्रों में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू है और इंटरनेट सेवाएं बंद रखी गई है.

इसे भी पढ़ेंहोटल कैपिटल हिल के सीसीटीवी फुटेज में देखें, कैसे सबके सामने एयरलाइंस कर्मी को पीट रहा है अंकित काबरा व शिवेंद्र, पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई

केंद्रीय मंत्री पर केस दर्ज

आसनसोल में रामनवमी के मौके पर दो संप्रदायों के बीच हुए तनाव के बाद हिंसा-पीड़ित क्षेत्र में जाने से रोकने पर एक आइपीएस ऑफिसर के साथ बदसलूकी करने के आरोप में केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो पर आपराधिक धारा 144 के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. सूत्रों के मुताबिक, आसनसोल के कल्याणपुर हाउसिंग स्थित एक मैरिज हॉल में शरणागत दंगा पीड़ितों से केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने मुलाकात की. जब दंगा पीड़ितों ने आपबीती बताते हुए चांदमारी का दौरा करने का अनुरोध किया. तो बाबुल कुछ लोगों के साथ चांदमारी जाने लगे लेकिन पुलिस ने रोक दिया. यहीं से झड़प शुरू हो गयी. बाबुल और पुलिस के बीच कथित तौर पर धक्का-मुक्की हो गयी. एक तरफ जहां सांसद बाबुल ने पुलिस पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाया वहीं पुलिस ने भी आरोप लगाया कि सांसद ने आइपीएस अधिकारी रूपेश कुमार जो कि विशेष तौर पर दंगा नियंत्रण के लिए कोलकाता से आसनसोल भेजे गये हैं के साथ मारपीट की. अधिकारी देवज्योति साहा ने बाबुल के खिलाफ आसनसोल नॉर्थ थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी है. पुलिस ने आइपीएस अधिकारी के साथ मारपीट करने और धारा 144 का उल्लंघन और अशांति फैलाने की विभिन्न गैरजमानती धाराओं में बाबुल सुप्रियो के खिलाफ मामला दर्ज है.

इसे भी पढ़ें10 लाख का इनामी माअोवादी जोनल कमांडर दीपक उरांव ने पुलिस के समक्ष किया सरेंडर

बेटा खोने वाले इमाम ने की शांति की अपील

आसनसोल में भड़की हिंसा में एक इमाम ने अपने 16 साल के बच्चे को खो दिया है. अपने जिगर के टुकड़े की मौत के बाद भी इमाम नहीं चाहते हैं कि उनके बेटे की मौत के बाद धर्म के नाम पर हिंसा हो. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक इमाम ने लोगों से अपील की है कि अपने शहर में अमन बनाए रखें और इसे सांप्रदायिक मुद्दा ना बनाएं. अपने 16 साल के मासूम बच्चे को सुपुर्दे-खाक करने के बाद ईदगाह में मौजूद सैकड़ों लोगों को संबोधित करते हुए इमाम ने लोगों से अपील की, मैंने अपना बेटा खोया है, इसे आप सांप्रदायिक मुद्दा ना बनाएं, अगर आप मुझसे प्यार करते हैं, तो अमन बहाल करें. 

निकाली गई सदभावना रैली

रानीगंज में हनुमान जयंती और ईस्लामी 40वां के मद्देनजर सदभावना रैली निकाली गयी. जिसमें हिन्दू-मूस्लिम भाईभाई जैसे नारे लगाये गये. हालांकि भाजपा हनुमान जयंती पर रैली निकालने की बजाये स्थानीय क्लबों और नागरिकों की ओर से आयोजित कार्यक्रम में भाग ले रही है. वहीं तृणमूल कांग्रेस समूचे राज्य में हनुमान जयंती मनाएगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबु और ट्विट पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: