Uncategorized

आयरन कारोबारियों से बकाया वसूल ले सरकार, तो नहीं बेचनी पड़ेगी 5 साल शराबः बाबूलाल

News Wing

Giridih, 04 October: राज्य में शराबबंदी की मांग को लेकर झाविमो ने एक बार फिर रघुवर सरकार पर हमला बोला है. शराबबंदी अभियान के तहत गिरिडीह के खोरिमहुआ अनुमंडल के घोड़थम्बा में आयोजित रैली में झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी ने रघुवर सरकार पर हमले किये. उन्होंने कहा कि शराब से सरकार को कौन से बड़े राजस्व की प्राप्ति होती है. शराब से प्राप्त होने वाले राजस्व से कई गुणा ज्यादा  तो आयरन कारोबारियों का सरकार के पास बकाया पड़ा है. जो कि लगभग 10 हजार करोड़ रुपया है.

advt

नोटिस भेजकर सिर्फ खानापूर्ति कर रही सरकार

उन्होंने कहा कि यदि सरकार आयरन कारोबारियों से उस बकाये राशि को वसूल कर लेती है तो 5 वर्षों तक तो शराब बेचने की जरुरत ही नहीं पड़ेगी. उन्होंने कहा कि सरकार बार-बार आयरन कारोबारियों को नोटिस देकर बकाया वापसी के नाम पर केवल खानापूर्ति कर रही है.

शराबबंदी हुई तो रघुवर दास को पहनायेंगे माला

बाबूलाल ने कहा कि झारखंड में पैसे की कमी नहीं है. सरकार इसको लेकर बहाना नहीं कर सकती हैं. उन्होंने कहा कि इसलिए वो सरकार से शराब बंद करने की बात कहते आये हैं. यदि सरकार शराब बंद करती हैं तो सभी महिलाओं के साथ वो भी जाकर मुख्यमंत्री रघुवर दास को माला पहनायेंगे.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: